भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। राजधानी में श्‍वान के आतंक की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। तीन हफ्ते पूर्व बागसेवनिया इलाके में गली में खेल रही तीन साल की एक मासूम को पांच कुत्‍तों द्वारा नोंचने की घटना को लोग भूले भी नहीं थे कि श्‍वान द्वारा एक और मासूम को काटने का नया मामला सामने आया गया। ताजा मामला अवधपुरी थाना क्षेत्र का है, जहां एक पालतू श्वान ने सात वर्ष की बालिका पर हमला करते हुए उसके पैर में बुरी तरह काट लिया। बच्‍ची के पिता की शिकायत पर श्वान के मालिक पड़ोसी के खिलाफ केस दर्ज किया है। घटना शनिवार की है।

अवधपुरी थाना पुलिस के मुताबिक दयाशंकर रघुवंशी अवधपुरी स्थित जवाहर नगर कालोनी में परिवार के साथ रहते हैं। वह नगर निगम में काम करते हैं। शनिवार सुबह उनकी पुत्री हिमांशी (सात) घर के बाहर खड़ी थी। इस दौरान पड़ोस में रहने शर्मा का श्वान अचानक हिमांशी पर झपट गया। श्वान का दांत गड़ने से बालिका के पैर में जख्म हो गया। श्वान के हमले से वह बुरी तरह भयभीत हो गई थी। उसकी चीख सुनकर परिवार के लोग दौड़े और श्वान को भगाया। दयाशंकर की शिकायत पर श्वान के मालिक के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।

कुत्तों के हमले से घायल तीन साल की बच्ची 20 दिन बाद घर पहुंची

उधर 30 दिसंबर को बागसेवनिया इलाके में कुत्तों के हमले से घायल हुई तीन साल की गुड्डी बंसल की गुरुवार को अस्पताल से छुट्टी कर दी गई है। बच्ची अब पूरी तरह से स्वस्थ है। हालांकि, उसके सिर पर कुत्तों के नोचने के निशान अब भी दिख रहे हैं। उसे हमीदिया अस्पताल में पांच एंटी रैबीज वैक्सीन लगाए गए हैं। सभी वैक्सीन लगने के बाद ही अस्पताल से छुट्टी की गई है।

बता दें कि घर के पास खेलते वक्त पांच कुत्तों के झुंड ने उस पर हमला कर दिया था। गिरने के बाद भी कुत्ते उसे नोचते रहे। पास में ही पुताई कर रहे एक युवक ने दौडकर कुत्तों को भगाया था। बच्‍ची को जेपी अस्पताल से बिना इलाज ही हमीदिया रेफर कर दिया गया था। हमीदिया में भी उसका ठीक से इलाज किए बिना छुट्टी कर दी गई। इस बाबत विधायक कृष्णा गौर ने चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग से बात की थी। इसके बाद उसे दोबारा भर्ती किया गया था। अगले दिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल के आला अधिकारियों के साथ बैठक कर घटना को लेकर नाराजगी जाहिर की थी। साथ ही इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाने को कहा था।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local