भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। राजधानी में दिसंबर के मुकाबले अभी कोरोना जैसे लक्षण वाले मरीजों की संख्या निजी और सरकारी अस्पतालों की ओपीडी में तीन गुना तक तक बढ़ गई है। डाक्टरों की सलाह के बाद भी 60 फीसद मरीज जांच कराने के लिए तैयार नहीं हो रहे हैं। वहीं जांच कराने पर इस तरह के लक्षण वाले मरीजों में आधे पाजिटिव आ रहे हैं। सर्दी, जुकाम, खांसी और बुखार के लक्षण वाले मरीजों की संख्या किस तरह से बढ़ी है, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि पिछले 15 दिन में इन बीमारियों की दवाएं लेने के लिए मेडिकल स्टोर्स में पहुंचने वालों की संख्या चार से पांच गुना तक हो गई है। दवा विक्रेताओं का कहना है कि दवा के लिए आने वालों में करीब 40 फीसद के पास डाक्टर का पर्चा नहीं होता।

इससे यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि भोपाल में कोरोना के जितने मरीज मिल रहे हैं, हकीकत में उससे ज्यादा संख्या है। शहर के छाती व श्वास रोग विशेषज्ञों का कहना है कि सर्दी-जुकाम, खांसी और बुखार के लक्षण दिखने पर सबसे पहले आइसोलेट हो जाना चाहिए। जांच जरूर करानी चाहिए, जिससे घर के दूसरे लोग संक्रमित नहीं होने पाएं।

दिसंबर के आखिरी और जनवरी के पहले हफ्ते के मुकाबले सर्दी-जुकाम और बुखार वाले मरीज बढ़े हैं। हमीदिया अस्पताल के छाती व श्वास रोग विभाग की ओपीडी में पहले इस तरह के लक्षण वाले चार-पांच मरीज आते थे। अब 10 के करीब आ रहे हैं। कहने के बावजूद इन 10 में करीब पांच-छह मरीज तो जांच ही नहीं कराते। जो जांच कराते हैं, उनमें आधे पाजिटिव आ रहे हैं। जांच कराना जरूरी है। इससे मरीज के साथ ही उसके घर वालों का भी बचाव हो जाता है। एंटीबायोटिक दवाएं चिकित्सक की सलाह पर ही लेनी चाहिए। तीन दिन तक 100 डिग्री से ज्यादा बुखार है तो डाक्टर से परामर्श जरूर करें।

- डा. लोकेन्द्र दवे, विभागाध्यक्ष , छाती एवं श्वास रोग

सर्दी, जुकाम, खांसी और बुखार की तकलीफ की दवा लेने के पहले हर दिन तीन-चार मरीज आते थे, तो अब 10 से 15 आ रहे हैं। मरीज मोबाइल पर प्रिस्किप्शन लेकर आते हैं। यह भी देखने को मिल रहा है कि एक तरह के लक्षण वाले मरीज डाक्टर की सलाह के बिना ही एक किसी डाक्टर की दवा लेकर खाते हैं।

- मृगांक जोशी, मेडिकल स्टोर संचालक, भाेपाल

एंटीबायोटिक, मल्टी विटामिन, पल्स आक्सीमीटर और अन्य दवाओं की मांग पिछले 15 दिन में तीन से चार गुना तक बढ़ी है। हर दिन 15 से 20 मरीज डाक्टर के पर्चे के बिना ही सर्दी-जुकाम, बुखार की दवा लेने के लिए पहुंच रहे हैं। एक ही घर में कई लोग पाजिटिव हैं तो सभी एक ही दवा ले रहे हैं।

- संजीव तिवारी, मेडिकल स्टोर संचालक, भोपाल

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local