भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। राजधानी में देश की आजादी की 75वीं वर्षगांठ का उत्‍सव धूमधाम से मनाया गया। बारिश भी लोगों का उत्‍साह कम नहीं कर सकी। जगह-जगह देशभक्‍तिपूर्ण आयोजन हुए। इसी सिलसिले में रवींद्र भवन में भी 'आजादी के महापर्व' पर रंगारंग संगीत कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में मुंबई के प्रख्यात गायक शान ने एक से बढ़कर एक देशभक्‍ति के गीतों को पेश कर समां बांध दिया। उन्‍होंने मंच पर आकर सबसे पहले देशवासियों को आजादी पर्व की शुभकामनाएं दी और मध्यप्रदेश गान गाकर कार्यक्रम की शुरुआत की। इसके बाद उन्होंने देशभक्ति से ओत प्रोत गीत गाकर उपस्थित सभी लोगो को रोमांचित कर दिया। 'भारत हमको जान से प्यारा है' और 'ए वतन मेरे वतन आबाद रहे तू' जैसे देशभक्ति गीतों की संगीतमयी प्रस्तुति को सुनकर दर्शक अपने आप को गुनगुनाने से नहीं रोक सके। इस कार्यक्रम का लुत्‍फ उठाने बड़ी संख्‍या में लोग रवींद्र भवन पहुंचे। सभागार में भारत माता की जय के नारों और तालियों की गड़गड़ाहट ने स्वतंत्रता दिवस की शाम को देशभक्ति से भर दिया।

भारत जैसी देव भूमि विश्व में कहीं नहीं - मंत्री उषा ठाकुर

प्रदेश के संस्‍कृति विभाग के स्‍वराज संस्‍थान संचालनालय द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में संस्कृति, पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर ने कहा कि भारत जैसी देवभूमि विश्व में कहीं नहीं है। यह देवभूमि भगवान ने अपने हाथों से बनाई हैं। इसके कण-कण में शंकर और बूंद-बूंद में गंगाजल है। उन्होंने कहा कि 21वीं सदी का विश्व गुरु भारत निर्मित करना है तो भारत के वास्तविक इतिहास को जानना आवश्यक है। इस अवसर पर उन्‍होंने सभागार में उपस्थित सभी लोगों को देशभक्ति की प्रतिज्ञा भी दिलाई।

कार्यक्रम में भारतवर्ष की अक्षय कीर्ति गाथा पर केन्द्रित फिल्म श्रृंखला "भारत विक्रम" का लोकार्पण और स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों पर केंद्रित "ज़रा याद करो कुर्बानी" एवं उज्जैन के राजा विक्रमादित्य शोध पीठ द्वारा बनाई गई "भारतीय ऋषि वैज्ञानिक" चित्र प्रदर्शनी का शुभारम्भ भी किया। साथ ही धर्मपाल शोध पीठ द्वारा प्रकाशित पुस्तक रीडिस्कवरिंग इंडिया का लोकार्पण भी किया।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close