भोपाल (नईदुनिया स्टेट ब्यूरो)। मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण का खतरा एक बार फिर बढ़ रहा है। शासन स्तर पर इससे बचाव के लिए पाबंदियां लगाई गई हैं। वहीं, राज्य सरकार की संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री ऊषा ठाकुर और बसपा से विधायक रामबाई ने मास्क को लेकर गैर जिम्मेदार बयान दिए हैं। विधानसभा परिसर में मंगलवार को मीडिया से बातचीत के दौरान दोनों नेताओं ने मास्क नहीं पहने थे। उनसे इस पर सवाल किए गए तो ऊषा ठाकुर ने कहा कि मैं वैदिक जीवन पद्धति का पालन करती हूं, इसलिए मास्क नहीं पहनती। रामबाई ने कहा कि मास्क लगाने पर उल्टी भरती है (जी मिचलाता है), चक्कर आते हैं, इसलिए नहीं पहनती।

जरा पढ़ें, मंत्री ठाकुर क्यों नहीं पहनती हैं मास्क

'मैं मास्क नहीं पहनती, क्योंकि मैं वैदिक जीवन पद्धति का शत-प्रतिशत पालन करती हूं। मैं सूर्योदय और सूर्यास्त के समय गाय के गोबर के कंडे पर देसी घी और चावल रखकर आहूति देती हूं। यानी अग्निहोत्र करती हूं। इससे पूरा घर-परिवार व वातावरण 12 घंटे सैनिटाइज रहता है। यह विज्ञान की कसौटी पर कसी हुई बात है। इसके अलावा सूर्यास्त के समय दुर्गा सप्तशती और हनुमान चालीसा का सस्वर पाठ करती हूं, जो प्राणायाम है। एक पूरी गहरी सांस भरते हैं, श्लोक बोलते हैं, फिर दूसरी सांस लेते हैं। प्राणायाम और अग्निहोत्र रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाते हैं। दोनों वक्त शंखनाद करती हूं। यह फेफड़ों की बहुत मजबूत एक्सरसाइज होती है। मुझे लगता है किसी ने एक मिनट तक लगातार शंख बजा लिया तो उसके फेफड़े कितने मजबूत हैं, यह विज्ञान स्वयं आपको बताएगा। मैं दो गज की दूरी से ही बात करती हूं। इसके बाद भी कोई पास आता है तो मुंह ढंक लेती हूं। मैंने मास्क नहीं लगाया, लेकिन गमछा अवश्य रखती हूं। इंदौर में कोरोना संक्रमितों की जो संख्या बढ़ी है। वह निश्चित तौर पर नागरिकों की लापरवाही है। मैं देख रही हूं, इंदौर में जैसे ही छूट मिली, लोगों ने चाट-पकौड़ी खाना, अकारण घूमना प्रारंभ कर दिया है। यही लापरवाही कोरोना के विस्तार का कारण बनी।'

बसपा विधायक रामबाई की हास्यास्पद दलील

'मुझे मास्क की जरूरत नहीं लगती। कोई दिक्कत नहीं है, फिर भी नहीं लगाना। जो जुर्माना होगा, वह दे देंगे पर हम मास्क नहीं लगाते, क्योंकि हमें बहुत घुटन होती है। जी मिचलाता है। चक्कर आने लगते हैं। इसलिए मास्क नहीं लगाते।'

(जैसा दोनों नेताओं ने मीडिया से कहा)

विधायकों के लिए टीकाकरण की अलग नीति बने

विधानसभा परिसर में मीडिया से चर्चा में नेता प्रतिपक्ष कमल नाथ ने ऊषा ठाकुर और रामबाई के मास्क नहीं पहनने को लेकर कहा कि वे खुद को और दूसरों को भी सुरक्षित रखें। मैंने मुख्यमंत्री और विधानसभा अध्यक्ष से मांग की है कि विधानसभा सदस्यों और यहां के अधिकारियों-कर्मचारियों के लिए कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण की अलग से नीति बनाएं, क्योंकि जनता से सबसे ज्यादा संपर्क विधायकों का होता है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags