Jagadguru Rambhadracharya: भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। राजधानी के भेल दशहरा मैदान पर श्रीराम कथा की शुरुआत कलश यात्रा से हुई। सोमवार को बरखेड़ा स्थित श्रीकृष्ण मंदिर से कलश यात्रा निकली। इसमें पांच सौ महिलाएं सिर पर कलश लेकर चलेंगी। साथ ही ढोल, डीजे की थाप पर नाचते-गाते श्रद्धालु चल समारोह में शामिल हुुए। कलश यात्रा में बाइक रैली में युवाओं की टोली धर्म और अध्यात्म का प्रतीक भगवा ध्वज लेकर साथ चले। जगद्गुरु रामभद्राचार्य महाराज 31 जनवरी तक लोगों को श्रीराम कथा सुनाएंगे। इससे पहले जगदगुरू ने गुफा मंदिर भी गए और वहां पर सभी से मुलाकात करने के बाद अवधपुरी आए और कुछ समय आरााम किया।

ककथा स्थल पर 50 हजार से ज्यादा लोगों के बैठने की व्यवस्था

भोजपाल महोत्सव मेला समिति के अध्यक्ष सुनील यादव ने बताया कि कलश यात्रा में बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल होंगे। कथा स्थल पर 50 हजार से ज्यादा लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई है। जरूरत पड़ने पर पंडाल के आसपास खाली पड़ी जगह पर भी श्रद्धालुओं के बैठने की व्यवस्था की गई। महिला-पुरुष के लिए अलग-अलग बैठक व्यवस्था रखी गई है। संयोजक विकास वीरानी ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय संत रामभद्राचार्य महाराज की कथा सुनने बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए अलग-अलग प्रसाधन, स्नानागार आदि की व्यवस्था की गई है। कथा स्थल पर 50 हजार वाहनों के पार्किंग की व्यवस्था की गई है। पंडाल सहित पूरे मैदान को अध्यात्म के प्रतीक भगवा ध्वज से सजाया गया है। महामंत्री हरीश कुमार राम ने बताया कि नौ दिनों तक चलने वाली श्रीराम कथा के लिए अलग-अलग दिन अलग-अलग तरह की प्रसादी का वितरण किया जाएगा। जगद्गुरु को सुनने भोपाल सहित प्रदेश के अलग-अलग शहरों से लोग आएंगे।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close