Jyotiraditya Scindia भोपाल। पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने कहा कि वे अपने 18 साल के राजनीतिक जीवन में कभी भी कुर्सी की दौड़ में नहीं रहे। वे न तो राज्यसभा में जाने की दौड़ में हैं और न ही प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनने के लिए कोशिश कर रहे हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने यह बात भोपाल प्रवास के दौरान रविवार को पत्रकारों से चर्चा के दौरान कही। ज्योतिरादित्य सिंधिया रविवार को सेवादल के राष्ट्रीय विषारद प्रशिक्षण शिविर में भाग लेने के लिए भोपाल आए थे।

शाम को विमानतल पर उनका स्वागत करने के लिए राज्य सरकार के तीन मंत्री तुलसी सिलावट, गोविंद सिंह राजपूत व प्रद्युम्नसिंह तोमर, पूर्व विधायक हेमंत कटारे, पीसीसी प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी आदि पहुंचे। पत्रकारों से चर्चा के दौरान सिंधिया ने एसिड अटैक से पीड़ित महिलाओं की जीवन पर आधारित फिल्म छपाक को लेकर कहा कि वे इस फिल्म को देखेंगे।

उन्होंने फिल्म में मुख्य भूमिका निभाने वाली दीपिका पादुकोण के साहस का सम्मान करते हुए कहा कि उन्होंने सच बोलने की हिम्मत दिखाई। साथ ही उनका विरोध करने वालों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि एक महिला होने के बाद भी दीपिका पर जिस तरह सार्वजनिक रूप से टिप्पणियां की जा रही हैं, वह निंदनीय है।

अभिव्यक्ति को दबाती है भाजपा

जबलपुर में भाजपा अध्यक्ष व केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा कांग्रेस पर दंगे कराने के आरोप पर सिंधिया ने पलटवार किया। उन्होंने कहा कि भाजपा अभिव्यक्ति को दबाती है। सिंधिया ने कहा कि कानून लाने के पहले उन्हें उसके लिए बहुमत लेना था। वीर सावरकर को लेकर जब सिंधिया से सवाल किया गया तो वे उसे टाल गए। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने देश की आजादी में पसीने की एक बूंद तक नहीं बहाई, वे कांग्रेस को प्रमाण पत्र देंगे।

Posted By: Hemant Upadhyay

fantasy cricket
fantasy cricket