Jyotiraditya Scindia : भोपाल। नवदुनिया स्टेट ब्यूरो। कांग्रेस छोड़ने के बाद दूसरी बार मध्यप्रदेश आए भाजपा के राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस पर जमकर बरसे। उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि उसे प्रदेश की साढ़े सात करोड़ जनता की चिंता नहीं है। कांग्रेस तो सिंहासन के लिए छटपटा रही है। विधानसभा की 24 सीटोें पर होने वाले उपचुनाव मेें भाजपा की जमीन मजबूत कर रहे सिंधिया ने पूर्व मुख्यमंत्री व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को चेतावनी के साथ तंज कसा कि टाइगर अभी जिंदा है।

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुरुवार को शिवराज सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार के बाद कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। कहा कि कांग्रेस जनता की सेवा से भटक गई है। वह काला दिवस मना रही है जबकि उसे तो आपातकाल जिस दिन लगाया गया, उस दिन को काला दिवस मनाना चाहिए। कमल नाथ और दिग्विजय सिंह के आरोपों पर कहा कि उन्हें इन लोगों के प्रमाण की जरूरत नहीं है। सिंधिया ने 15 महीने की कमल नाथ सरकार को किस्तों की सरकार बताया और कहा कि उसने प्रदेश के पूरे भंडार को लूट लिया था। वादाखिलाफी का इतिहास लिखा है। 15 महीने की सरकार के अनुभव बताते हुए सिंधिया ने कहा कि सरकार में वापस आने के लिए इन लोगों ने हर तरह के प्रयास किए और गलत तरीके भी इस्तेमाल किए हैं।

कमल नाथ ने विष कैंपेन चलाकर चरित्र पर लगाए आरोप

सिंधिया ने तीन महीने प्रदेश नहीं आने पर सफाई देते हुए कहा कि लॉकडाउन के कारण प्रदेश नहीं आ सके और एक महीने से कोरोना संक्रमित होने से घर में रहे। मगर इस दौरान कमल नाथ ने 90 दिन जिस तरह विष कैंपेन चलाकर चरित्र पर दाग लगाने की कोशिश की, उसका परिणाम उन्हेें भुगतना पड़ेगा। उन्हें प्रदेश की साढ़े सात करोड़ जनता जवाब देगी। जनता कोरोना का सामना कर रही है लेकिन कांग्रेस या कमल नाथ को इसकी चिंता नहीं और न ही उनकी सेवा की। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जनता की सेवा में लगे रहे। सिंधिया फाउंडेशन के माध्यम से कोरोना महामारी में लोगों की मदद की। प्रदेश के बाहर रहने वाले मप्र के लोगों को वापस लाए और विदेशों से भी कई लोगों को देश वापस लेकर आए। उन्होंने कमल नाथ या दिग्विजय सिंह से सवाल किया कि वे बताएं कि कोरोना महामारी को लेकर उन्होंने क्या सेवा की।

मंत्रिमंडल विस्तार नहीं बल्कि जनसेवकों की सेना का गठन

भ्ााजपा सांसद सिंधिया ने मंत्रिमंडल विस्तार पर कहा कि यह मंत्रिमंडल विस्तार नहीं है बल्कि जनसेवकों की सेना का गठन है। मंत्रियों को सलाह दी कि गरीब, किसान और समाज के हर वर्ग को साथ लेकर उत्थान के लिए एकजुट होकर काम करें। उन्होंने मंत्रियों को चेताया कि मंत्रिमंडल विस्तार को त्योहार की तरह नहीं लें बल्कि जो जिम्मेदारी मिली है, उसे निभाने के लिए अच्छे से काम करें।

मंत्रिमंडल विस्तार में ज्योतिरादित्य सिंधिया खेमे के इन लोगों को बनाया मंत्री

मध्य प्रदेश में गुरुवार को हुए मंत्रिमंडल विस्तार में ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक प्रद्युम्न सिंह तोमर, इमरती देवी, राज्यवर्धन सिंह, बृजेंद्र सिंह यादव प्रभुराम चौधरी, महेंद्रसिंह सिसोदिया, सुरेश धाकड़ (राठखेड़ा), ओपीएस भदौरिया, गिर्राज दंडोतिया को लिया गया है। इसके पहले मंत्रिमंडल में तुलसी सिलावट और गोविंद सिंह राजपूत को मंत्री बनाया गया था।

शपथ ग्रहण से पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया ने किया ट्वीट

मंत्रिमंडल विस्तार से पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट कर लिखा कि अन्याय के खिलाफ छेड़ा गया संघर्ष ही धर्म है। दो दिवसीय दौरे पर भोपाल पहुंच रहा हूं। प्रदेश सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार कार्यक्रम में उपस्थित होने के बाद, कार्यकर्ताओं से मुलाकात करूंगा।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस