-स्टोरीज एंड बियांड काएनुअल डे पर कायना दासवानी व मनस्वी बावेजा को जीनियस ऑफ द ईयर अवॉर्ड

भोपाल। नवदुनिया रिपोर्टर

बच्चों को रीडिंग हैबिट्स का प्रशिक्षण देने वाली संस्था स्टोरीज एंड बियांड का वार्षिकोत्सव शनिवार को श्यामला हिल्स स्थित रीजनल साइंस सेंटर के सभागार में आयोजित किया गया। कार्यक्रम में लोककथाओं पर लिखी गई पुस्तकें द न्यू घोस्ट व सेवन सिमंस की कहानियों को मंच पर प्रस्तुत किया गया तो वहीं जीनियस ऑफ द ईयर विद्यार्थियों को टेंथ जनरेशन किंडल पुरस्कार में दिए गए। साथ ही अन्य विद्यार्थियों को विभिन्ना पुरस्कार मिले। इस कार्यक्रम में अरेरा कालोनी व कोहेफिजा केंद्र के विद्यार्थी व अभिभावक शामिल हुए। स्टोरीज एंड बियांड की सह संचालक निधि अग्रवाल ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान वर्षभर अच्छा प्रदर्शन करने वाली विद्यार्थी कायना दासवानी तथा मनस्वी बावेजा को जीनियस ऑफ द ईयर का अवार्ड व एक-एक टेंथ जनरेशन किंडल बुक रीडर इनाम में दिए गए, वहीं अन्य विद्यार्थियों को विभिन्ना पुरस्कार प्रदान किए गए।

तायवानी और रशियन लोककथा

कार्यक्रम का आरंभ स्टोरी टेलर प्रेरणा ने तायवानी लोककथा द न्यू घोस्ट से किया। यह एक ऐसी बुद्घिमान युवा महिला की है, जो अपनी सूझबूझ से न केवल एक भूत से अपना पीछा छुड़ाती है,बल्कि उसे अपना दोस्त बनाकर अपने काम भी कराती है। सेवन सिमंस नामक दूसरी कहानी स्टोरी टेलर अमिता सरकारी ने सुनाई जो कि रशिया के दूरदराज के गांवों की लोककथा थी। यह कहानी अद्भुत शक्तियों वाले सात भाइयों की कहानी थी जो एक राजा को सुयोग्य रानी ढूंढने में मदद करते हैं। पहला भाई आसमान को छूने जितना लंबा खंबा बना सकता था, दूसरा भाई उस खंबे पर चढ़ सकता था, तीसरा जहाज बना सकता था तो चौथा उस जहाज को पानी में नीचे ले जाकर तूफान व दुश्मनों की नजर से बचाने की विद्या जानता था। पांचवें को बंदूक बनाना आती थी,जबकि छठवां उस बंदूक से मारी गई चीज को जमीन पर गिरने से पहले पकड़ सकता था। सातवां भाई दुनिया में मौजूद किसी भी चीज को चुरा सकता था चाहे वह जमीन के नीचे क्यों न छिपाई गई हो।