भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। राजधानी में भोपाल सिटी लिंक लिमिटेड (बीसीएलएल) अपनी आमदानी बढ़ाने के लिए नई कवायद करने जा रहा है। इसके तहत राजधानी में पीपीपी मोड पर बनाए जा रहे 120 नए बस स्टाप पर 10 बाय 10 का कियोस्क भी खोला जाएगा। भले ही नगर निगम और बीसीएलएल ने इसे कियोस्क नाम दिया हो, लेकिन यह एक गुमठी नुमा दुकान ही होगी। इन गुमठियों को बनाने की इजाजत नगर निगम की होल्डिंग कंपनी भोपाल सिटी लिंक लिमिटेड (बीसीएलएल) द्वारा दी गई है। इन गुमठियों की खासियत ये है कि ये स्थाई होंगी। निगम का अतिक्रमण अमला इन्हें हटा नहीं सकेगा।

इस तरह देखा जाए तो दो लाख से ज्यादा गुमठियों वाले शहर की प्रमुख सड़कों के किनारे आने वाले दिनों में 100 से ज्यादा गुमठियां बढ़ने वाली हैं। अब तक 80 से ज्यादा गुमठियां बन चुकी हैं। बता दें कि नगर निगम के जोनवार आंकड़ों के मुताबिक शहर में दो लाख से ज्यादा गुमठियां हैं। इनमें से ज्यादातर चौक-चौराहों और प्रमुख सड़कों के साथ ही बाजारों में रखी हैं। एक अनुमान के मुताबिक इनमें स्थाई गुमठियों का आंकड़ा 80 हजार के करीब है, जो सरकारी जमीनों पर रखी हुई हैं या नगर निगम द्वारा आवंटित की गई हैं।

विज्ञापन के साथ-साथ कियोस्क किराए पर देकर निकाला जाएगा खर्च

करार के मुताबिक कंपनी बस स्टाप बनाने के बाद उसमें विज्ञापन के साथ ही यहां बने कियोस्क को किराए पर देकर अपना खर्च निकालेगी। गौरतलब है कि बीसीएलएल ने नए 120 बस स्टाप बनाने का कई बार टेंडर निकाला। लेकिन बस स्टाप पर सिर्फ विज्ञापन से आमदनी के भरोसे किसी भी कंपनी ने टेंडर में दिलचस्पी नहीं दिखाई। इसके बाद बीसीएलएल ने टेंडर में नए बस स्टाप के साथ कियोक्स बनाने की इजाजत देते हुए टेंडर निकाले तो सफलता मिल गई। शहर में कियोस्क के साथ नए बस स्टाप बनाए जा रहे हैं। इधर बीसीएलएल के अधिकारियों का कहना है कि राजधानी में 300 बस स्टाप पुराने हैं। पीपीपी मोड पर 120 नए बस स्टाप बनाए जा रहे हैं। इनमें कियोस्‍क बनाए जा रहे हैं, ताकि कंपनी विज्ञापन और कियोस्क रेंट से अपनी लागत निकाल सके।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local