भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। हमारी जिंदगी में कई लोग आते हैं और चले जाते हैं, लेकिन अगर हम अपनी जिंदगी में खुशी, शांति व तरक्की चाहते हैं, तो हमें बस उन्हीं लोगों को अपने करीब रखना है, जो हमें सपोर्ट करते हैं, हमें हंसाते हैं, हमारा आत्मविश्वास बढ़ाते हैं। इसके ठीक विपरित हमें ऐसे दोस्तों व रिश्तेदारों को दूर रखना है, जो विभिन्न तरीकों से हमें पीछे या नीचे की ओर खींचते हैं। आज हम ऐसे ही कुछ लक्षण बता रहे हैं, जिनकी मदद से आप उस गलत इंसान को पहचान सकेंगे और उससे दूरी बना सकेंगे।

जो लोग आपको कंट्रोल करने की कोशिश करते हैं

कुछ लोग ऐसे होते हैं, जो बेजा तरीके से आपकी जिंदगी के निर्णय लेने की कोशिश करते हैं। आप पर दबाव बनाते हैं, आपको डांटते हैं, डराते हैं, धमकाते हैं, इमोशनल ब्लैकमेल करते हैं ताकि आप वही करें, जो वे चाहते हैं। इस तरह विभिन्न तरीकों से वे आप पर हावी होकर आपको कंट्रोल करते हैं। ऐसे लोग आप पर दबाव डालते हैं कि फलां सब्जेक्ट मत ले। फलां कालेज मत जा। इस इंसान से दोस्ती मत कर। इस इंसान से शादी मत कर। इस नौकरी को छोड़कर बिजनेस मत कर। ये गाड़ी नहीं, बल्कि ये गाड़ी ले। ये शर्ट मत पहन, जोकर लगेगा। यानी हर वक्त वे आपको उनके मुताबिक रहने, चलने की हिदायत देते रहते हैं। जब आप ऐसा नहीं करते, तो वे तरह-तरह से आप पर दबाव डालते हैं। कभी आप पर चिल्लाकर, तो कभी नाराज होकर, कभी खाना-पीना बंद कर, तो कभी ये कह कर कि अभी मेरी बात नहीं मानी तो भविष्य में मेरे पास मदद लेने मत आना। ऐसे लोगों को लगता है कि सिर्फ उन्होंने ही दुनिया देखी है। ऐसे लोगों से दूरी बनाना ही उचित है।

बार-बार अपमान करने वाले लोग

कुछ लोग ऐसे होते हैं, जो आम बातचीत के दौरान कब आपका अपमान कर देते हैं, पता ही नहीं चलता। ऐसे लोग बातचीत के दौरान आपकी कमियों पर अचानक कमेंट कर देते हैं और ऐसे जताते हैं कि उन्हें आपसे हमदर्दी हैं, वे आपकी चिंता करते हैं। उदाहरण के तौर पर भले ही आप फिट हों, फिर भी वे आपको कह देते हैं कि ‘बेटा आपका वजन तो कितना बढ़ गया है…थोड़ा खाने-पीने पर कंट्रोल किया करो… एक्सरसाइज किया करो। मुझे तो तुम्हारी बहुत फिक्र होती हैं, इसलिए कहती हूं। मैं तो अपनी वाली हूं। मैं तुम्हारी फिक्र नहीं करूंगी तो कौन करेगा?’ आपको ऐसे लोगों के साथ बातचीत करना, उनके साथ बैठना तुरंत बंद करना चाहिए। भले ही वो आपके रिश्तेदार हों, घर पर बार-बार आते हों, आपके साथ ही रहते हों, लेकिन आपको उनसे बातचीत एकदम ‘ना’ के बराबर करनी है। परिवार के लोग दबाव डालें, तो उन्हें भी समझाएं कि उनकी बातचीत का आप पर क्या असर पड़ता है।

बात-बात पर आपका मजाक उड़ाते हैं

कई लोग ऐसे होते हैं, जो लोगों के इकट्‌ठा होने पर हंसी-मजाक का माहौल बनाने के लिए, खुद को कूल, मजाकिया, बेस्ट कॉमेडियन साबित करने के लिए आप पर जोक बनाते हैं। आपके साथ घटी किसी घटना का जिक्र कर आप पर हंसते हैं, आपके बचपन के किस्से सुनाकर आपको शर्मिंदा महसूस कराते हैं, आपकी शारीरिक कमी पर हंसते हैं। उन्हें लगता है कि वे सबको हंसा रहे हैं, लेकिन वे यह नहीं समझते कि इससे आपको तकलीफ पहुंच रही है। कुछ लोग ये सब अनजाने में करते हैं, लेकिन कई लोग ये जान-बूझकर करते हैं। वे बीच-बीच में आपको शांत रखने के लिए बोलते भी हैं कि ‘यार, बुरा मत मानना…जोक ही तो है।’ या फिर ‘मैं मजाक में कह रहा हूं, मजाक के तौर पर ही ले।’ कुछ लोग जलन की वजह से भी आपको सबके सामने नीचा दिखाने के लिए ऐसा करते हैं। इसलिए ऐसे लोगों से बचकर रहिए।

हतोत्साहित करने वाले लोग

कुछ लोगों की आदत होती है कि वे आपको हर वक्त हतोत्साहित करते हैं। आपकी काबिलियत पर शक करते हैं, आपमें कमी निकालते हैं, आपके कामों को, आपको जज करते हैं। ऐसा लगने लगता है कि ऐसे लोगों से आपकी खुशी बर्दाश्त ही नहीं होती। आप जब भी खुश दिखते हैं, वे तुरंत कुछ ऐसा बोल देते हैं, जिससे आप दुखी हो जाएं। आपका मूड ऑफ हो जाये। आप तैयार हो कर कहीं जा रहे होंगे, तो वे कह देंगे कि कितने अजीब दिख रहे हो। तुम पर ये ड्रेस बिल्कुल सूट नहीं कर रहा। आप शहर के बाहर किसी कॉलेज में दाखिला करवा रहे होंगी तो वे ताना देंगे कि ‘अच्छा है, बाहर घूमने-फिरने की आजादी होगी, कोई टोकने वाला नहीं होगा तो मजे करोगी।’ आपको ऑफिस का कोई साथी घर छोड़ने आयेगा तो वे कहेंगे कि लड़की का कैरेक्टर ही खराब है। आपको ऐसे लोगों से भी दूर रहना है और उनकी कही गई बातों को भी पूरी तरह इग्नोर करना है। ऐसे लोगों के पास कोई काम होता नहीं तो दूसरी की लाइफ में क्या चल रहा है, इसी से टाइम पास करते हैं। ऐसे लोगों को बोलने दें। उनसे रिश्ता हो तो उनसे दूरी बना लें। मिलना-जुलना बंद कर दें, क्योंकि आपसे आपकी लाइफ की बातें पता करके वे बाहर आपके बारे में गलत जानकारी फैला सकते हैं।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close