भोपाल (राज्य ब्यूरो)। पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती शराबबंदी-नशाबंदी अभियान 14 फरवरी से शुरू करेंगी। यह जानकारी उन्होंने शुक्रवार को एक के बाद एक छह ट्वीट कर दी। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में नशाबंदी होकर रहेगी। यह अभियान सरकार के खिलाफ नहीं है। बल्कि शराब और नशा के खिलाफ है। भाजपा-कांग्रेस और सरकार में बैठे कुछ लोगों को समझा पाना भी कठिन काम है।

उमा भारती ने कहा कि अभियान को लेकर पहले चरण की चर्चा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ स्वयंसेवकों, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से हो चुकी है। उन्होंने कहा कि कठिनाई के कुछ हिस्से अभी भी मौजूद हैं। इस कारण अभियान की शुरूआत से पूर्णता तक मुझे स्वयं पूरी तरह से सजग एवं संलग्न रहना होगा। जिसके लिए मैं तैयार हूं।

उमा भारती ने कहा कि कोरोना के नए वैरियंट के चलते जनभागीदारी नहीं हो सकती है। अभियान में राजनीतिक निरपेक्ष लोग ही भागीदारी करें, यह निश्चित करना चुनौतीपूर्ण काम है। उन्होंने अपनी धार्मिक यात्रा पूरी होने पर प्रसन्न्ता व्यक्त करते हुए कहा कि गंगोत्री से शुरू हुई यात्रा मकर संक्रांति के पुण्य काल में गंगा सागर में समाप्त हुई। गंगोत्री से लाया गया गंगा जल सागर में मिल गया। यह मेरे लिए जीवन का सबसे अधिक प्रसन्नता वाला क्षण है।

उल्लेखनीय है कि उमा भारती ने इससे पहले भी मध्य प्रदेश में शराबबंदी की मांग करते हुए अभियान शुरू करने की घोषणा की थी। हालांकि मुख्यमंत्री से चर्चा के बाद उन्होंने अभियान शुरू नहीं किया था। फिर उन्होंने दो फरवरी 2021 को ट्वीट किया था कि वे महिला दिवस (आठ मार्च 2021) से प्रदेश में नशामुक्ति अभियान शुरू करेंगी। इसके बाद सितंबर 2021 में उन्होंने फिर शराबबंदी को लेकर बयान दिया था। फिर 15 जनवरी 2022 से अभियान शुरू करने का एलान किया था।

कांग्रेस उठा रही थी सवाल

उमा भारती के बार-बार अभियान शुरू करने की घोषणा करने और फिर समय पर अभियान शुरू न करने पर कांग्रेस लगातार सवाल उठा रही थी। दो दिन पहले कांग्रेस नेता जीतू पटवारी ने कहा था कि उमा भारती अभियान शुरू करती हैं, तो कांग्रेस उन्हें पूरा साथ देगी। यहां तक कि उनके लिए रथ बनवाकर भी दिया जाएगा।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local