Live MP Government Crisis Updates : सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई गुरुवार तक स्थगित, दिग्विजय की याचिका खारिज

Wed, 18 Mar 2020 05:13 PM (IST) | प्रशांत पांडे

HIGHLIGHT

  1. बेंगलुरू के होटल में मौजूद बागी कांग्रेसी विधायकों से मिलने की कोशिश में कांग्रेस नेता हिरासत में।
  2. राज्यपाल ने कमलनाथ सरकार द्वारा की गई नियुक्तियों और ट्रांसफर की फाइल रोकी।
  3. राज्यपाल ने लिखा स्पीकर को लिखा आपने मुझे गलती से पत्र भेज दिया।

Live MP Government Crisis Updates : बागी विधायकों को बेंगलुरु से वापस लाने को लेकर कांग्रेस द्वारा सुप्रीम कोर्ट में लगी याचिका पर सुनवाई के दौरान कांग्रेस के वकील दुष्यंत दवे ने कहा कि विधायकों को बंधक बनाकर रखा गया है। इस दौरान फ्लोर टेस्ट को लेकर कोई अंतरिम निर्णय नहीं दिया जाना चाहिए। इस मामले संविधान पीठ को सौपा जाना चाहिए। इस पर बागी विधायकों के वकील मनिंदर सिंह ने कहा कि विधायकों को बेंगलुरु में बंधक बनाकर नहीं रखा गया है। फ्लोर टेस्ट को लेकर दुष्यंत दवे ने कहा कि विधायकों को वापस अपने क्षेत्रों में जाकर चुनाव जीतना चाहिए। इसके पहले बुधवार सुबह कांग्रेस नेता दिग्जिवय सिंह और अन्य कांग्रेस नेता बेंगलरु में मौजूद विधायकों से मिलने पहुंचे और जब उन्हें मिलने नहीं दिया गया तो होटल के पास धरने पर बैठ गए। इसके बाद पुलिस ने इन्हें हिरासत में ले लिया और अमृथाहल्ली पुलिस स्टेशन में लेकर पहुंची, जहां वे भूख हड़ताल पर बैठ गए। दिग्विजय ने कहा- विधायकों से मिले बिना बेंगलुरु से नहीं जाऊंगा। मध्य प्रदेश में चल रहे इस सियासी घमासान की हर जानकारी पढ़िए यहां...

18 March 2020
  • 07:20 PM

    भाेपाल में हबीबगंज पुलिस थाना पहुंचे भाजपा कार्यकर्ता। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने घेरा था भाजपा कार्यालय। मामला दर्ज कराने पहुंचे भाजपा कार्यकर्ता।

  • 07:02 PM

    मध्‍य प्रदेश में राजनीतिक उठापटक के बीच कमल नाथ के आवास पर कांग्रेस विधायकों की बैठक कुछ ही देर में आरंभ होगी।

  • 06:32 PM

     आज शाम सात बजे भोपाल में सीएम हाउस में होगी कांग्रेस विधायक दल की बैठक।

  • 05:54 PM

    भोपाल में भाजपा कार्यालय का घेराव करने पहुंचे कांग्रेस कार्यकर्ता। दोनों दलों के कार्यकर्ताओं के बीच झूमाझटकी। मौके पर पुलिस मौजूद।भोपाल में धारा 144 लगाई। कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी।

  • 05:45 PM

    कमलनाथ सरकार ने आयोग के अध्‍यक्षों को कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया। 

  • 05:42 PM

    भोपाल में भाजपा कार्यालय का घेराव करने पहुंचे कांग्रेस कार्यकर्ता। दोनों दलों के कार्यकर्ताओं के बीच झूमाझटकी। मौके पर पुलिस मौजूद।

  • 05:27 PM

    भोपाल में प्रदेश भाजपा मुख्‍यालय का घेराव करने पहुंचे कांग्रेस कार्यकर्ता। मौके पर भारी पुलिस बल तैनात। 

  • 05:26 PM

    प्रदेश कांग्रेस वीडी शर्मा ने कहा कि बेंगलुरु में विधायकों पर दबाव डालने का कार्य क्‍या आचार संहिता का उल्‍लंघन नहीं है। दिग्विजय और 84 के दंगों के आरोपी मध्‍यप्रदेश की राजनीति से खिलवाड़ कर रहे हैं। मैं तो चुनाव आयोग से मांग करुंगा कि वे दिग्विजय के खिलाफ कार्रवाई करें। अल्‍पमत सरकार धड़ाधड़ नियुक्तियां कर रही है। 

  • 05:24 PM

     शिवराज ने कहा कि मंत्री बनाने में कमलनाथ सरकार ने वरिष्‍ठ नेताओं की अनदेखी की। प्रदेश भाजपा अध्‍यक्ष विष्‍णुदत्‍त शर्मा ने कहा कि दिग्विजय की हुड़दंग गैंग ने बेंगलुरु में जो कृत्‍य किया वह सबने देखा है। भाजपा कार्यकर्ता अपनी शक्ति और क्षमता के आधार पर कांग्रेस को जवाब देना चाहते हैं लेकिन हमारा कानून पर पूरा विश्‍वास है। सर्वोच्‍च न्‍यायालय जो आदेश देगा हम उसका पालन करेंगे। 

  • 05:21 PM

    शिवराज ने कहा कि लोकतंत्र को पैरों तले कुचलने का कार्य कांग्रेस ने किया है। हम चाहते तो चुनाव के बाद ही सरकार बना सकते थे। बागी विधायकों को जान का खतरा है। कांग्रेस के संकट से हमें लेनादेना नहीं है। पहले कांग्रेस ने विधायकों की उपेक्षा की और अब उनकी सुध लेने की बात कर रही है। 

  • 05:18 PM

    मीडिया से बातचीत में शिवराज सिंह चौहान ने दिग्विजय और कमलनाथ पर अनेक आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार ने बहुमत खो दिया है। अल्‍पमत की सरकार अभी भी धड़ाधड़ तबादले कर रही है। 

  • 05:17 PM

    शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि बेंगलुरु में ठहरे विधायकाें ने साफ कहा है कि दिग्विजय सिंह के कारण ही हम यहां अाए हैं। सीहोर में मीडिया से बातचीत में शिवराज बोले कि कांग्रेस अनर्गल आरोप लगा रही है। कमलनाथ सरकार ने 15 माह में हाहाकार मचा दिया और माफि‍या को प्रश्रय दिया।

  • 05:11 PM

    सरकार द्वारा संवैधानिक पदों पर नियुक्तियों के खिलाफ इंदौर हाइकोर्ट में याचिका दायर। याचिकाकर्ता की मांग- सरकार अल्पमत में है इसलिये संवैधानिक पदों पर नियुक्ति का अधिकार नहीं है।याचिका भूपेंद्र सिंह कुशवाह प्रदेश सह संयोजक भाजपा की ओर से दायर की गई है।

  • 05:07 PM

    कर्नाटक हाईकोर्ट में दिग्विजय सिंह की याचिका खारिज, बेंगलुरु में 16 बागी विधायकों से मिलने के लिए लगाई थी याचिका। 

  • 05:04 PM

    कमलनाथ सरकार द्वारा शोभा ओझा और अंतर सिंह दरबार की नियुक्तियों के खिलाफ इंदौर हाइकोर्ट में याचिका दायर। याचिकाकर्ता की मांग- सरकार अल्पमत में है इसलिये उसे संवैधानिक पदों पर नियुक्ति का अधिकार नहीं है।

  • 04:13 PM

    मप्र में जारी संवैधानिक संकट पर जारी सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई गुरुवार तक के लिए टल गई है। बागी विधायकों के वकील मनिंदर सिंह ने कहा कि हमारी सुरक्षा का सवाल है, इसलिए हम भोपाल नहीं जाना चाहते हैं। वहीं स्पीकर के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कल तक का समय मांगा है।

  • 03:54 PM

    CM कमलनाथ का आरोप : मेरा फोन नहीं उठा रहे गृहमंत्री अमित शाह

    मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि मैंने तीन बार कर्नाटक के मुख्यमंत्री को फोन लगाया लेकिन वो फोन पर नही आ रहे हैं। इसके अलावा देश के गृहमंत्री अमित शाह को भी फोन किया लेकिन वे फोन नहीं उठा रहे हैं। मै खुद कर्नाटक जाना चाह रहा हूं, लेकिन कर्नाटक के मुख्यमंत्री से बात नहीं हो पा रही है। ऐसे में क्या समझा जाए। हमारे विधायकों को बंधक बनाकर रखा हैं, यदि वो खुले में आए तो दिल की बात बोलेंगे।

  • 03:21 PM

    मप्र से कांग्रेस के राज्यसभा प्रत्याशी दिग्विजय सिंह बेंगलुरु में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं। भाजपा को निशाने पर लेते हुए कहा कि उन्होंने बीते 15 साल में सिर्फ घोटाले किए। कमलनाथ सरकार ने माफिया के खिलाफ अभियान चलाया। इस पूरे घटनाक्रम के दौरान दिग्विजय सिंह ने कर्नाटक पुलिस पर भी सवाल उठाए।  

  • 03:16 PM

    फ्लोर टेस्ट के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई जारी है। सुप्रीम कोर्ट ने जज ने सुनवाई के दौरान कहा कि हम विधायकों को मजबूर नहीं कर सकते हैं। हम टीवी पर देखकर कैसे तय करें कि विधायकों के हलफनामें अपनी इच्छा से दिए हैं या नहीं। 16 विधायकों को कोर्ट में पेश करने के सुझाव को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया।

  • 02:39 PM

    न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ ने विधायकों द्वारा हलफनामे को देखकर कहा कि वे खुद को याचिकाकर्ता के रूप में वर्णित कर रहे हैं, जैसे कि वो एक याचिका दायर करने जा रहे हैं। हमें निश्चिंत होना है। जज ने कहा कि यह उनकी पसंद है कि वे सदन में प्रवेश करना चाहते हैं या व्हिप आदि का पालन करते हैं या नहीं, लेकिन निश्चित रूप से, जब आरोप है कि उन्हें कैद में रखा जा गया तो हमें यह देखना होगा कि ये उनकी स्वतंत्र इच्छा हैं।

  • 12:31 PM

    मैहर, चाचौड़ा और नागदा को बनाया जिला

    मध्य प्रदेश में चल रहे राजनीतिक घमासान के बीच सीएम कमलनाथ की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में मैहर, चाचौड़ा और नागदा को नया जिला बनाया गया है। चाचौड़ा के लिए कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह, नागदा के लिए दिलीप सिंह गुर्जर और मैहर के लिए भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी लगातार मांग कर रहे थे। ऑनलाइन स्टांप लेने पर उपभोक्ताओं को एक प्रतिशत की छूट मिलेगी।

  • 12:11 PM

    कांग्रेस के वकील ने कहा- विधायक अचानक इस्तीफा नहीं दे सकते

    सुप्रीम कोर्ट में कांग्रेस द्वारा विधायकों को बंधक बनाने के लिए दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान कांग्रेस के वकील दुष्यंत दवे ने कहा कि 16 विधायकों को अवैध रूप से हिरासत में रखा गया है। मध्य प्रदेश में 15 महीनों से एक स्थिर सरकार काम कर रही है। दवे ने कहा कि फ्लोर टेस्ट पर सुनवाई के लिए इतनी जल्दबाजी क्यों की जा रही है। आज सुनवाई नहीं हुई तो कोई आसमान नहीं गिर जाएगा। क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे विधायक अचानक इस्तीफा नहीं दे सकते। बागी विधायकों के वकील ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि कोई भी विधायक हिरासत में नहीं है। कांग्रेस की ओर से मांग की गई है कि मामला संविधान पीठ भेजा जाए और कोई अंतरिम आदेश नहीं दिया जाना चाहिए। 

  • 11:55 AM

    सिंधिया समर्थक विधायकों का वीडियो- हमें दिग्विजय सिंह से नहीं मिलना

    ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक कांग्रेस के बागी विधायकों ने दिग्विजय सिंह के वहां पहुंचने के बाद एक वीडियो जारी किया है। जिसमें उन सभी ने कर्नाटक पुलिस को कहा है कि उन्हें दिग्विजय सिंह से नहीं मिलना चाहते, उनकी वजह से ही कांग्रेस की सरकार पर संकट आया है। सभी ने पुलिस ने खुद के लिए सुरक्षा उपलब्ध कराने की मांग भी की है।

  • 11:33 AM

    विधायक मनोज चौधरी के भाई बलराम चौधरी की याचिका पर सुनवाई से इनकार

    बेंगलुरु में मौजूद विधायक मनोज चौधरी के भाई बलराम चौधरी द्वारा लगाई गई बंदी प्रत्यक्षीकरण की याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि आप इसके लिए सही फोरम के पास जाए। बलराम चौधरी ने याचिका में कहा था कि उनके भाई मनोज चौधरी को बेंगलुरु या देश की अन्य किसी जगह बंधक बनाकर रखा गया है।

  • 11:24 AM

    सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा, राज्यसभा उम्मीदवार को विधायकों से न मिलने देना तानाशाही

    सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा कि, बेंगलुरु में भाजपा द्वारा बंधक बनाए गए कांग्रेस विधायकों से मिलने गए कांग्रेस के राज्यसभा उम्मीदवार दिग्विजय सिंह व कांग्रेस के मंत्रियों, विधायकों को मिलने से रोकना, उनसे अभद्र व्यवहार करना, उन्हें बलपूर्वक हिरासत में लेना पूरी तरह से तानाशाही व हिटलर शाही है। पूरा देश आज देख रहा है कि एक चुनी हुई सरकार को अस्थिर करने के लिए किस प्रकार से भाजपा द्वारा लोकतांत्रिक मूल्यों की हत्या की जा रही है। क्यों विधायकों से मिलने नहीं दिया जा रहा है, आख़िर किस बात का डर भाजपा को है? भाजपा द्वारा एक गंदा खेल प्रदेश में खेला जा रहा है। लोकतांत्रिक मूल्यों, संवैधानिक मूल्यों व अधिकारों का दमन किया जा रहा है। हमारे हिरासत में लिए गये नेताओ को शीघ्र रिहा किया जाए और बंधक विधायकों से मिलने की इजाजत दी जाए।

  • 11:17 AM

    नरोत्तम मिश्रा ने कहा- जल्दबाजी में लिए गए सभी फैसले करेंगे निरस्त

    भाजपा नेता नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कमलनाथ सरकार गिरने के डर से जल्दबाजी में फैसले लिए जा रहे हैं। पदों पर नियुक्ति के साथ ट्रांसफर भी किए जा रहे हैं। सरकार अभी अल्प मत में है और ऐसे में वह कोई फैसले नहीं ले सकती। इस दौरान लिए गए सभी फैसलों को निरस्त किया जाएगा।

  • 11:04 AM

    फ्लोर टेस्ट को लेकर दोपहर में होगी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

    सुप्रीम कोर्ट में मध्य प्रदेश विधानसभा में फ्लोर टेस्ट कराने को लेकर लगी याचिका पर सुनवाई अब दोपहर को होगी। याचिकाकर्ता शिवराज सिंह चौहान के वकील मुकुल रोहतगी कोर्ट रूम में नहीं होने से उनके जूनियर ने कुछ समय मांगा, वहीं मध्य प्रदेश सरकार की ओर से कपिल सिब्बल और विवेक तन्खा ने भी कोर्ट से समय की मांग की। जिसके बाद अब इस मामले में सुनवाई दोपहर में होगी।

  • 10:37 AM

    दिग्विजय ने ट्वीट कर कर्नाटक की भाजपा सरकार पर साधा निशाना

    दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर कहा कि बेंगलुरु में तो भाजपा की सरकार है। यहां की पुलिस भाजपा सरकार के अधीन है। मैं यहां गांधीवादी तरीके से अपने विधायकों से मिलने आया हूं। मुझे तो भाजपा के राज में भी, उनकी पुलिस के बीच भी डर नहीं लग रहा है। लेकिन भाजपा नेता कह रहे हैं कि विधायकों को डर है। तो डर किससे है? खुद भाजपा से न?

  • 09:27 AM

    कैलाश विजयवर्गीय का दिग्विजय पर तंज

    बेंगलुरु में धरने पर बैठे दिग्विजय सिंह का फोटो ट्वीटर पर शेयर करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने तंज कसा है। विजयवर्गीय ने लिखा है, बेंगलुरु में नौटंकी! हमारा सौभाग्य है कि ये माननीय राजनीति में है। यदि बॉलीवुड में होते तो अमिताभ बच्चन जी को भी मात कर देते!

  • 09:14 AM

    राज्यपाल ने भेजा विधानसभा स्पीकर को पत्र

    विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति द्वारा राज्यपाल लालजी टंडन को लिखे गए पत्र का राज्यपाल ने तड़के 3:05 बजे जवाब दिया। राज्यपाल ने स्पीकर को लिखा है कि आपने मुझे गलती से पत्र भेज दिया। बेंगलुरु में मौजूद विधायकों की सुरक्षा को लेकर आपकी चिंता जायज है, इनका इस्तीफा स्वीकार न करने की आपकी मजबूरी समझ सकता हूं। बागी विधायकों के बयान से नहीं लगता वो दबाव में हैं। उन्हें वापस लाने का काम कार्यपालिका का है। इनको वापस लाने की खत में कोई जानकारी नहीं है।

  • 08:47 AM

    बेंगलुरु में पुलिस् स्टेशन के अंदर दिग्विजय सिंह की भूख हड़ताल

    बेंगलुरु पुलिस दिग्विजय सिंह समेत अन्य कांग्रेस नेताओं को हिरासत में लेने के बाद पुलिस स्टेशन लेकर पहुंची। यहां वे भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं, इसके पहले वे विधायकों से मिलने के लिए रामादा होटल के नजदीक धरने पर बैठ गए थे। इनके साथ सज्जनसिंह वर्मा, तरुण भनोत, उमंग सिंगार,  लखन यादव, लखन घनघोरिया, जीतू पटवारी, सचिन यादव, हर्ष यादव, कान्तीलाल भूरिया, अशोक सिंह, कुणाल चौधरी, आरिफ मसूद, कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डीके शिवकुमार एवं अन्य कांग्रेस नेताओं को पुलिस ने लिया हिरासत में लिया है।कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष डीके शिवकुमार ने कहा कि राज्य की भाजपा सरकार अपनी शक्तियों का दुरुपयोग कर रही है। हमारी अपनी राजनीतिक रणनीति है, हमें पता है कि स्थिति को कैसे संभाला जाता है। दिग्विजय सिंह यहां अकेले नहीं है, मैं यहां हूं। मुझे पता है कि उनका समर्थन कैसे किया जाए। लेकिन मैं यह नहीं चाहता कि यहां कानून-व्यवस्था की स्थिति बिगड़े।

  • 08:39 AM

    दिग्विजय सिंह बोले, 5 विधायकों का मुझसे हुआ संपर्क

    बेंगलुरु में बागी विधायकों से मिलने पहुंचे दिग्विजय सिंह ने पुलिस हिरासत में कहा कि हम अपने विधायकों को वापस लाने की कोशिश कर रहे हैं। मेरा 5 विधायकों से संपर्क हुआ है, उन्हें बंधक बनाकर रखा गया है, दबाव में उनसे बयान दिलवाए जा रहे है। उनके मोबाइल फोन भी छीन लिए गए हैं। होटल के अंदर हर रूम के बाहर पुलिस को तैनात किया गया है। हमेशा उन पर नजर रखी जा रही है।

  • 07:48 AM

    बेंगलुरु पुलिस ने दिग्विजय सिंह और कांग्रेस नेताओं को हिरासत में लिया

    बेंगलुरु पुलिस ने रामादा होटल के पास धरने पर बैठे कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह और बाकी कांग्रेस नेताओं को हिरासत में लिया गया। ये सभी होटल के अंदर मौजूद कांग्रेस के बागी विधायकों से मिलने पहुंचे थे। जब पुलिस ने होटल में जाने नहीं दिया तो दिग्विजय ने कहा कि हम इसका गांधीवादी तरीके से विरोध करेंगे, इसके बाद वे होटल पास ही बैठ गए।

  • 07:10 AM

    बेंगलुरु में होटल के बाहर धरने पर बैठे दिग्विजय सिंह

    बेंगलुरु के रामदा होटल में ठहरे कांग्रेस विधायकों से मिलने दिग्विजय सिंह वहां पहुंचे। पुलिस द्वारा मिलने नहीं दिए जाने पर वे होटल के बाहर की धरने पर बैठ गए। इनके साथ कांतिलाल भूरिया और तरुण भनोत सहित कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष डीके श्रीवास्तव भी मौजूद है। दिग्विजय सिंह ने कहा कि मैं कांग्रेस की ओर से राज्यसभा चुनाव के लिए प्रत्याशी हूं। ये कांग्रेस विधायक मेरे वोटर हैं और इनसे मुझे मिलने नहीं दिया जा रहा। भाजपा ने इन्हें यहां बंधक बना रखा है। पुलिस मुझे यह बता रही है कि उन विधायकों को मुझसे खतरा है।

  • 07:03 AM

    मध्य प्रदेश कांग्रेस ने भी सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की याचिका

    संकट में फंसी मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने कोरोना की आड़ में विधानसभा स्थगित कर थोड़ा वक्त तो निकाल लिया लेकिन, कोर्ट में राह मुश्किल दिख रही है। तत्काल सदन में बहुमत साबित करने की मांग लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे शिवराज सिंह चौहान और अन्य विधायकों की याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कमलनाथ सरकार के साथ-साथ विधानसभा के सचिव को नोटिस जारी कर बुधवार सुबह तक जवाब मांगा है। जवाबी कार्रवाई में मप्र कांग्रेस ने भी सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है कि उन्हें बेंगलुरु में भाजपा सरकार की ओर से बंदी बनाकर रखे गए विधायकों से संपर्क करने दिया जाए। लेकिन राह कितनी मुश्किल है इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि उन 16 विधायकों ने शिवराज की याचिका से खुद को जोड़ते हुए मांग की है कि स्पीकर उनके इस्तीफे स्वीकार करें। बुधवार को कोर्ट इस याचिका पर फिर से सुनवाई करेगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK