भोपाल। LPG Gas घनी आबादी में स्थित गैस गोदामों को शहर से दूर निर्जन स्थान पर स्थानांतरित करने के लिए अब शहर की सभी गैस एजेंसियों के गोदामों की जांच शुरू की जाएगी। सभी तहसील और सर्किल के एसडीएम को अपने क्षेत्रों में स्थित गैस गोदामों की जांच करने के निर्देश कलेक्‍टर अविनाश लवानिया ने शनिवार को दे दिए है। उन्‍होंने एक सप्‍ताह के अंदर सभी गोदामों की जांच कर इसका प्रतिवेदन सौपने के लिए भी कहा है। सभी गैस एजेंसी के गोदाम की जांच पेट्रोलियम एक्ट 1934 के अंतर्गत खाद्य, नापतोल तथा गैस कंपनी के विक्रय अधिकारियों के साथ की जाएगी। बता दें कि गैस एजेंसी संचालकों द्वारा गोदाम 15000 वर्गफीट में गैस गोदाम निर्मित करना तथा नियम के तहत गोदाम से एंट्री गेट की दूरी में 9 मीटर का खुला एरिया छोड़ने का नियम है। इतनी ही जमीन निर्जन स्थान पर चिहांकन के उपरांत राजस्व विभाग से लीज पर चाही गई है। यह भी जांच की जाना है कि नियमानुसार एरिया में गैस गोदाम निर्मित है या नहीं।

यह भी देखेंगे अधिकारी

समस्त सहायक कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी गैस एजेंसियों की जांच के दौरान विस्फोटक लाइसेंस की कॉपी, गैस एजेंसी का कंपनी द्वारा दिया गया लाइसेंस, अथॉरिटी लेटर, नापतोल की प्रमाणित कॉपी और गोदाम का नक्शा अवश्य प्राप्त करेंगे । गैस गोदाम 15000 वर्गफीट में बना है तथा गैस गोदाम में मुख्य द्वार की दूरी 9 मीटर है तथा 9 मीटर का परिसर खुला है कि नहीं और निरीक्षण के दौरान यह भी चेक करें घनी आबादी गोदाम से कितनी दूर है।

शहर में है 45 गैस एजेंसियों के गोदाम, 27 की ही हो पाई थी जांच

बता दें कि 2018 में तत्‍कालीन कलेक्‍टर सुदाम खाडे ने भी गैस एजेंसियों के गोदामों की जांच के आदेश दिए थे। इस दौरान 45 में से 27 गैस एजेंसियों की ही जांच हो पाई थी। इसमें से 18 गैस एजेंसिया घनी आबादी वाले क्षेत्रों में संचालित होना पाया गया था।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस