भोपाल, नईदुनिया प्रतिनिधि। मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार के खिलाफ भाजपा द्वारा बुवाधर को प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर घंटानाद आंदोलन का आयोजन किया गया। राजधानी में आंदोलन की अुगवाई भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने की, करीब 500 कार्यकर्ताओं के साथ दोपहर 12 बजे कलेक्ट्रेट का घेराव घंटा बजाकर किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रदेश की कमलनाथ सरकार लोकतंत्र की हत्या करने पर आमादा है। यह सरकार विरोध में उठने वाली हर आवाज को दबाना चाहती है, लेकिन हम ना दबाव में आएंगे और न रुकेंगे। विरोध का हमारा सिलसिला जारी रहेगा। प्रदेश सरकार कुंभकर्णी नींद में सो रही है। उसकी नींद को तोड़ने के लिए और लोगों को न्याय दिलाने के लिए भाजपा ने घंटानाद आंदोलन किया।

इर घेराव के दौरान कलेक्ट्रेट परिसर के अंदर जाने से रोकने के लिए पुलिस प्रशासन ने तीन स्तर पर बेरिकेड्स लगाए थे। जिन्हें लांघने पर प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह, महापौर आलोक विायक विश्वास सारंग, हुजूर विधायक रामेश्वर शर्मा और पार्टी के जिला अध्यक्ष विकास विरानी समेत करीब 167 भाजपा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर नई जेल भेज दिया। जहां भी आंदोलनकारियों ने रामधुन गाकर प्रदेश सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। शाम को साढ़े तीन बजे गिरफ्तार किए गए सभी कार्यकर्ताओं को जमानत पर रिहा कर दिया गया। इस पूर्व गिरफ्तारी के विरोध में उग्र हुए भाजपा कार्यकर्ताओं को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग भी करना पड़ा।

सरकार नहीं चला पा रहे हैं तो कुर्सी छोड़ दें कमलनाथ : प्रभात झा

सागर में आंदोलन के दौरान भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने कहा कि मप्र में कांग्रेस पार्टी की कमलनाथ सरकार जनता के बीच गिर चुकी है। अब सदन में गिरना शेष है। मेरी उन्हें सलाह है कि यदि वे सरकार नहीं चला पा रहे हैं तो कुर्सी छोड़ दें।

शिवराज ने जलाई बिजली बिल की होली

विदिशा में पूर्व सीएम शिवराजसिंह चौहान ने बिजली बिलों की होली जलाई और लोगों को बढ़े हुए बिजली बिल जमा नहीं करने का संकल्प दिलाया। उन्होंने कहा कि यदि कोई बिजली काटने आए, तो मुझे बताना। मैं आकर कनेक्शन जोड़ दूंगा। वहीं गुना में सांसद डॉ. केपी यादव और विायक गोपीलाल जाटव आंदोलन में शामिल हुए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पास सरकार चलाने स्वयं का बहुमत नहीं है इसलिए वह अन्य दलों और निर्दलीय विधायकों की मान-मनुहार पर टिकी है।

भिंड में भाजपा कार्यकर्ताओं और पुलिस में धक्कामुक्की

ग्वालियर-चंबल में भिंड जिले को छोड़कर भाजपा का प्रदेश सरकार के खिलाफ बुवार को घंटानाद आंदोलन शांतिपूर्ण रहा। भिंड में भाजपा कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच धक्का-मुक्की हुई। ग्वालियर में पूर्व मंत्री भूपेंद्र सिंह के नेतृत्व में कलेक्ट्रेट पर घंटानाद आंदोलन किया। कार्यकर्ताओं की भीड़ को रोकने के लिए सैकड़ों की संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया। नेता तो लग्जरी कारों से पहाड़ी के नीचे तक पहुंचे, जबकि पब्लिक को 500 मीटर दूर ही रोक दिया गया।

शिवपुरी में यशोधरा राजे सिंधिया आईं तो विधायक रघुवंशी कार्यक्रम छोड़ कर चले गए

भाजपा के घंटानाद आंदोलन के दौरान जब विायक यशोधरा राजे सिंधिया कलेक्ट्रेट पहुंचीं, उसके ठीक पहले तक वहां मौजूद विधायक वीरेंद्र रघुवंशी अचानक चले गए। देर शाम उन्होंने सफाई दी कि शीर्ष नेतृत्व देरी से आया। उनके आने की सही जानकारी नहीं दी जा रही थी। मैं ही नहीं बल्कि कई नेता कलेक्ट्रेट से चले आए थे।

शहडोल में भाजपाइयों को रोकने हल्का बल प्रयोग तो बालाघाट में 50 ने दी गिरफ्तारी

महाकोशल-विंध्य में कांग्रेस की कमलनाथ सरकार के खिलाफ बुधवार को भाजपा का घंटानाद आंदोलन हुआ। जिलाध्यक्षों के नेतृत्व में भाजपा पदाकिारी व कार्यकर्ता रैली निकाल कलेक्ट्रेट पहुंचे। कलेक्टर को ज्ञापन देकर प्रदेश सरकार को चेताया। शहडोल कलेक्ट्रेट में दोपहर 2 बजे बारिश के बीच करीब 500 भाजपाई पहुंचे। उन्हें रोकने पैरा मिलिट्री फोर्स तैनात थी। करीब 50 कार्यकर्ता बेरिकेड्स लांघ कलेक्ट्रेट में घुसने लगे तो पुलिस को उन्हें रोकने हल्का बल प्रयोग करना पड़ा। बालाघाट में करीब 50 भाजपाइयों ने गिरफ्तारी दी। बाकी जिलों में आंदोलन शांतिपूर्ण रहा।

निरंकुश हो चुकी है प्रदेश सरकार : भार्गव

जबलपुर में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के नेतृत्व में सैकड़ों कार्यकर्ता घंटा, भोपू बजाते हुए सड़कों पर जमा हुए। पुलिस को चकमा देने के लिए भाजपा नेताओं ने दो टीम बनाकर प्रदर्शन किया। नेता प्रतिपक्ष भार्गव ने कहा कि प्रदेश सरकार निरंकुश हो चुकी है। इस सोई हुई सरकार को जगाने के लिए ही घंटानाद किया गया है। प्रदेश में 9 माह के भीतर 9 बेरोजगारों को भी रोजगार नहीं मिला है। भ्रष्टाचार चरम पर है। छोटे काम के लिए लिफाफे और बड़े काम के लिए सूटकेस लिए जा रहे हैं। मप्र पिछले 9 माह में अपहरण व तबादला उद्योग बन चुका है।