भोपाल। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार की समीक्षा के लिए शनिवार को कोर कमेटी की बैठक बुलाई गई है। बैठक मुख्यमंत्री निवास में शाम सात बजे होगी। मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भी आ रहे हैं जो तीन दिन मप्र में ही रहेंगे।

सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस कोर कमेटी में प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनने के चार महीने बाद ही लोकसभा चुनाव में हार पर समीक्षा के साथ भाजपा द्वारा अल्पमत सरकार का जो प्रचार किया जा रहा है उससे निपटने की रणनीति पर भी विचार किया जाएगा। भाजपा द्वारा सरकार को अस्थिर करने के प्रयासों की सूचनाओं के आधार पर असंतुष्ट कांग्रेस विधायकों व सहयोग दल व निर्दलीय विधायकों को किस तरह अपने साथ रखा जाए, इस पर भी विचार किए जाने के संकेत हैं।

उल्लेखनीय है कि अभी कांग्रेस के केपी सिंह, बिसाहूलाल सिंह, राजवर्धन सिंह, दिलीप गुर्जर असंतुष्ट हैं तो निर्दलीय विधायक ठाकुर सुरेंद्र सिंह शेरा भैया व विक्रम सिंह राणा भी मंत्री बनाए जाने के लिए गाहे-ब-गाहे नाराजी का इजहार करते रहते हैं। वहीं, सहयोगी दल बसपा-सपा का फैसला उनके राष्ट्रीय नेतृत्व को करना है और उनसे बातचीत कर दलों के नेताओं को सरकार में मौका दिए जाने पर चर्चा हो सकती है।

ये लोग रहेंगे बैठक में

कांग्रेस कोर कमेटी की बैठक में कमलनाथ व सिंधिया के अलावा कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी, बाला बच्चन, रामनिवास रावत व सुरेंद्र चौधरी, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष दिग्विजय सिंह, सुरेश पचौरी, अरुण यादव व कांतिलाल भूरिया, राज्यसभा सदस्य विवेक तन्खा व राजमणि पटेल, अजय सिंह, एआईसीसी के महासचिव व प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया, एआईसीसी के सचिव व प्रदेश प्रभारी संजय कपूर व सुधांशु त्रिपाठी, पीसीसी के संगठन प्रभारी उपाध्यक्ष चंद्रप्रभाष शेखर व प्रशासन प्रभारी महामंत्री राजीव सिंह मौजूद रहेंगे।

बैठक के लिए बाबरिया शुक्रवार की रात भोपाल पहुंच गए। गौरतलब है कि कोर कमेटी के सदस्यों में सिंधिया, दिग्विजय सिंह, सुरेश पचौरी, अरुण यादव, भूरिया, तन्खा, अजय सिंह, रामनिवास रावत और चौधरी जैसे वे नेता भी जो हाल ही में विधानसभा और लोकसभा चुनाव हारे हैं।

Posted By: Hemant Upadhyay

fantasy cricket
fantasy cricket