भोपाल (राज्य ब्यूरो)। महिला कांग्रेस में चार उपाध्यक्षों की नियुक्ति के बाद अब खंडवा और बुरहानपुर जिला कांग्रेस कमेटी को भंग कर दिया गया है। इनमें नगर और ग्रामीण दोनों शामिल हैं। गौरतलब है कि हाल ही में खंडवा लोकसभा क्षेत्र में उपचुनाव हुआ था, जिसमें कांग्रेस प्रत्याशी राजनारायण सिंह पूरनी हार गए थे। वहीं, इसी लोकसभा क्षेत्र में आने वाले बड़वाह विधानसभा क्षेत्र के विधायक सचिन बिरला ने कांग्रेस छोड़ भाजपा का दामन थाम लिया था।

खंडवा और बुरहानपुर में जिला अध्यक्ष ओंकार पटेल पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव के कट्टर समर्थक थे, जिन्हें उनके पद से हटा दिया गया है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ और पूर्व पीसीसी अध्यक्ष अरुण यादव के बीच चल रही तकरार फिर तेज हो गई है।

खंडवा लोकसभा में टिकट की दावेदारी करने के बाद पीछे हटे अरुण यादव के कट्टर समर्थक खंडवा जिला कांग्रेस के अध्यक्ष ओंकार पटेल को हटा दिया गया है। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रभारी महासचिव केसी वेणु गोपाल द्वारा जारी पत्र में खंडवा जिला कांग्रेस को भंग कर दिया गया है।

यहां ओंकार पटेल पिछले कई कार्यकाल से जिला कांग्रेस के अध्यक्ष थे। दूसरे यादव समर्थक और बुरहानपुर जिला कांग्रेस के अध्यक्ष अध्यक्ष अजय रघुवंशी को भी हटाया गया है। बुरहानपुर में रघुवंशी भी एक दशक से ज्यादा समय से कांग्रेस की कमान संभाल रहे थे। उधर, जबलपुर नगर कांग्रेस की कमान पार्टी ने जगत प्रकाश सिंह 'अन्नू' को सौंपी है। अन्नू पूर्व पार्षद हैं। उनकी पत्नी भी पार्षद रह चुकी हैं। अन्नू को राज्यसभा सदस्य विवेक तन्खा का भी समर्थक माना जाता है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local