Madhya Pradesh Congress: अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन के समय से ही कांग्रेस का रुख बदला-बदला नजर आ रहा है। उसके नेता राम की बातें कर रहे हैं, हनुमान चालीसा का पाठ करवा रहे हैं। इस पर दिग्विजय सिंह के भाई और कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह ने अपनी ही पार्टी को आइना दिखाया है। लक्ष्मण सिंह का कहना है कि पूजा पाठ करने से वोट नहीं बढ़ने वाले। कांग्रेस नेताओं को जनता से जुड़े मुद्दों को लेकर मैदान में उतरना होगा। बकौल लक्ष्मण सिंह, ऐसा करने से कांग्रेस को फायदा नहीं बल्कि नुकसान होगा। कांग्रेस से वोट छिटकेंगे और बसपा को चले जाएंगे।

लक्ष्मण सिंह ने भाजपा नेता उमा भारती का वह कथन दोहराया, जिसमें उन्होंने कहा था कि राम अकेले भाजपा के नहीं हैं। अब लक्ष्मण सिंह कह रहे हैं कि राम सबके हैं। कांग्रेस को राम नाम की माला नहीं जपना चाहिए, बल्कि कोरोना महामारी, स्वास्थ्य सुविधाएं और बेरोजगारी जैसी मुद्दें पर ही बात करना चाहिए। भगवा धारण करने से वोट नहीं मिलेंगे। किसी का पहनावा कुछ भी हो सकता है। इससे जनता को फर्क नहीं पड़ता।

यह पहला मौका नहीं है जब लक्ष्मण सिंह ने पार्टी लाइन से अलग जाकर बात कही हो। हफ्ते भर पहले भी उन्होंने अपने एक ट्वीट में कहा था, हम कांग्रेस के साथी भाजपा, संघ की विचारधारा को निरन्तर कोसते हैं, मैं भी उनकी विचार धारा से सहमत नहीं हूं, परंतु कांग्रेस की विचार धारा कहां लुप्त हो गई कि चुनाव में हमें "दुष्ट' तांत्रिक बाबाओं की मदद लेनी पड़ रही है?

बता दें, अयोध्या में राम मंदिर पूजन से पहले प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया था कि राम सबमें हैं और राम सबके हैं। वहीं कमल नाथ ने भोपाल में हनुमान चालीसा का पाठ किया था।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020