भोपाल bhopal news । राजधानी के छोला मंदिर थाने से महज 300 मीटर दूरी पर पैसे नहीं देने पर नशे में धुत बदमाशों द्वारा दो युवकों की हत्या और एक को गंभीर रूप से घायल करने की वारदात ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की नाराजगी बढ़ा दी। शनिवार को उन्होंने नीचे से लेकर ऊपर तक सभी पुलिस अधिकारियों की जिम्मेदारी और जवाबदेही तय करते हुए आईना दिखाया।

चौहान ने दो टूक कहा कि घटना हुई तो सिर्फ टीआइ और थानेदार ही नहीं, एसपी भी जिम्मेदार होंगे और उन पर कार्रवाई होगी। शिवराज के तेवर देखते हुए यह संकेत मिल रहे हैं कि भोपाल के डीआइजी समेत कुछ पुलिस अधिकारी हटाए जा सकते हैं।

शिवराज ने सख्ती से कहा कि किसी भी स्थिति में अपराध सहन नहीं करेंगे। अपराध बढ़ने के लिए जिम्मेदार अधिकारी तत्काल हटा दिए जाएंगे। सीएम ने गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा से भी अपराध की तीन बड़ी घटनाओं पर नाराजगी जाहिर की।

शनिवार को मुख्यमंत्री वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कानून-व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। यहां चौहान ने फरमान जारी किया कि अब प्रत्येक सोमवार को मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक के साथ कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक होगी।

दरअसल, इधर कई सनसनीखेज घटनाओं ने पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठा दिए और विपक्ष को हमले का मौका मिल गया है। शिवराज चौहान गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा के भरोसे कानून-व्यवस्था को नहीं छोड़ना चाहते, बल्कि अब वह खुद साप्ताहिक समीक्षा करेंगे। बीते दिनों गो-सेवा प्रमुख रवि शर्मा की हत्या हो या मंडला में हुई हत्या, विपक्ष ने सरकार को कठघरे में खड़ा किया है।

इसीलिए समीक्षा में उन्होंने पुलिस अधिकारियों से स्पष्ट कहा कि पुलिस बिना किसी दवाब के काम करें। इसके लिए विशेष अभियान भी चलाया जाए। किसी की चिंता न करें और कोई अपराधियों को संरक्षण न दे, जो देगा उसे मैं देख लूंगा। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार में पैसे लेकर पोस्टिंग नहीं होती है, इसलिए अफसर ठीक से कार्य करें। आगामी दिनों में आने वाले त्योहारों को ध्यान में रखते हुए भी सावधानी रखी जाए। कानून व्यवस्था हमारी प्रथम प्राथमिकता है।

सायबर क्राइम पर नियंत्रण के लिए दी नसीहत सायबर क्राइम पर नियंत्रण के लिए भी अधिकारियों को मुख्यमंत्री ने चेताया और कहा कि यदि ऑनलाइन अपराध हो रहे हैं तो उस पर भी ध्यान दिया जाए। बैंक कर्मचारियों के नाम पर कुछ लोग वित्तीय अपराध भी कर रहे, इन्हे रोकें और माफिया, चिट फंड वालों के विरुद्ध भी सख्त कार्यवाही हो। उन्होंने अपराधियों की संपत्ति जब्त करने की भी हिदायत दी है। पूर्व वर्षों में ऐसी कार्यवाही की गई है। इसके लिए विशेष अभियान चलाया जाए। दूसरे राज्यों से अपराध होते हैं तो वहां के अधिकारियों का सहयोग अपराध खत्म करने में लिया जाए।

मप्र शांति का टापू, अपराध बर्दाश्त नहीं करूंगा : सीएम

मुख्यमंत्री ने जोर देकर कहा कि मध्य प्रदेश शांति का टापू है और मैं यहां अपराध बर्दाश्त नहीं करूंगा। शिवराज ने कहा कि अपराधियों पर पुलिस का दबाव होना चाहिए, ताकि उनमें खौफ दिखे। पुलिस अधीक्षकों को जिम्मेदारी दी कि बदमाशों की सूची बनाएं और सख्त कार्रवाई करें। मानसून का आगमन हो चुका है। ऐसी स्थिति में कुछ जिलों में निचले इलाकों में बाढ़ की स्थिति बनती है। शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में आमजन को बाढ़ से बचाएं। इसके लिए जिला प्रशासन आवश्यक प्रबंध करें।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan