भोपाल(नवदुनिया प्रतिनिधि)। प्रदेश से अगले 10 सालों में एड्स संक्रमण को खत्म कर देंगे। यह संकल्प राज्य एड्स नियंत्रण समिति ने मंगलवार विश्व एड्स दिवस के मौके दोहराया है। यह लक्ष्य संयुक्त राष्ट्र संघ ने तय किया है कि 2030 तक एड्स को खत्म करना है। इस मौके पर राज्य एड्स नियंत्रण समिति के परियोजना संचालक डॉ.केडी त्रिपाठी ने बताया कि

राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन द्वारा तय रणनीति अपनाते हुए अधिक से अधिक लोगो को एचआईवी जांच के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं। संक्रमण के दौरान भी एचआईवी संक्रमित मरीजों को दवाईयां दी जा रही है। इस काम में एड्स नियंत्रण कार्यक्रम से जुडे परामर्शदाताओं, एआरटी केंद्र के कर्मचारी व अन्य अशासकीय संस्थाओं के प्रतिनिधी लगे हुए हैं। प्रदेश मे नवजात शिशुओं मे एचआईवी संक्रमण की दर को नियंत्रित करने के लिये विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। सभी गर्भवती महिलाओं की एचआईवी जांच गर्भवास्था के पहले3 माह में कराने की सलाह दी जा रही है। जेल के बंदियों के लिए एचआईवी जांच करने का इंतजाम कर रहे हैं। एड्स संक्रमितों के साथ होने वाले भेदभाव की रोकथाम की जा रही है। संक्रमितों को जरूरी सलाह दे रहे हैं।

कार्यक्रम में डॉ. वंदना भाटिया, हेल्थ स्पेशिलिस्ट यूनिसेफ, डॉ. विकास मिश्रा विशेषज्ञ गांधी चिकित्सा महाविद्यालय ने कोरोना व एड्स संक्रमण संबंधी विषयों पर तकनीकी प्रस्तुति दी है। प्रदेश के महाविद्यालयों में संचालित रेड रिबन क्लबों के छात्र-छात्राओं के लिए प्रदेशव्यापी विभिन्न प्रतियोगिता का शुभारंभ किया गया। विहान द्वारा तैयार की गई शार्ट वीडियो फिल्म अहसास-ए जिंदगी का प्रदर्शन किया गया। कार्यक्रम का संचालन संयुक्त संचालक सविता ठाकुर ने किया।

Posted By: Lalit Katariya

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags