भाजपा प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी की शिकायत पर क्राइम ब्रांच ने कांग्रेस के सोशल मीडिया विभाग के अध्यक्ष अभय तिवारी और पीयूष बबेले के विरुद्ध विभिन्न धाराओं में दर्ज किया प्रकरण

Madhya Pradesh News: भोपाल (राज्य ब्यूरो)। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में विवादित नारे लगने का मामला गरमाता जा रहा है। छत्तीसगढ़ में मध्य प्रदेश भाजपा के मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर के विरुद्ध प्रकरण दर्ज होने के बाद अब भोपाल में भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी की शिकायत पर कांग्रेस नेताओं के विरुद्ध राष्ट्रीय एकता को खंडित करने, दंगा भड़काने, शांति भंग करने व आपराधिक साजिश करने सहित अन्य धाराओं में प्रकरण दर्ज किया गया है।

इसमें प्रदेश कांग्रेस के सोशल मीडिया विभाग के अध्यक्ष अभय तिवारी और पीयूष बबेले को आरोपित बनाया गया है। खंडवा के धनगांव में भारत जोड़ो यात्रा के दौरान व‍िवादित नारे वाला वीडियो सामने आया था। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसे लेकर राहुल गांधी की यात्रा पर सवाल उठाते हुए दोषियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करने की बात कही थी। जबकि, कांग्रेस ने भाजपा पर कूटरचित वीडियो जारी कर यात्रा को बदनाम करने का आरोप लगाते हुए कानूनी कार्रवाई करने की बात कही थी।

इसके बाद प्रदेश भाजपा के मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर के विरुद्ध छत्तीसगढ़ में प्राथमिकी की गई। रविवार को भाजपा नेताओं ने भोपाल स्थित क्राइम ब्रांच के कार्यालय पहुंचकर कांग्रेस नेता अभय तिवारी और पीयूष बबेले के विरुद्ध आवेदन दिया और कुछ देर बार प्राथमिकी दर्ज कर ली गई।

क्राइम ब्रांच के अनुसार पंकज चतुर्वेदी ने शिकायती आवेदन में बताया है कि राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, सोनिया गांधी व कमल नाथ और संपूर्ण कांग्रेस पार्टी द्वारा भारत जोड़ो यात्रा की आड़ लेकर पूरे भारत में देश विरोधी कृत्य किए जा रहे हैं। यात्रा में आपत्तिजनक नारे लगाए जा रहे हैं। इससे देश में शांति भंग हो सकती है। भारत जोड़ो यात्रा का उद्देश्य भारत को एक करना और देश को मजबूत करना दर्शाता है, लेकिन यात्रा के नाम पर एक आपराधिक कृत्य किया जा रहा है। यह बात खंडवा के जिले के ग्राम धनगांव में तब सामने आई, जब यात्रा के दौरान वि‍वादित नारे लगाए गए। इससे कांग्रेस का असली चेहरा सामने आ गया।

कांग्रेस ने खुद ही वीडियो बनाया और पार्टी के आधिकारिक टि्वटर हैंडल से 25 नवंबर को सुबह आठ बजकर 52 मिनट पर ट्वीट किया। पार्टी के ही मीडिया विभाग से जुड़े पीयूष बबेले ने वीडियो इंटरनेट मीडिया के माध्यमों पर पोस्ट किया और बाद में उसे हटा दिया गया।

इस घटना से स्पष्ट है कि भारत जोड़ो यात्रा में देशद्रोह, दंगा भड़काने, शांति भंग करने के अपराध किए जा रहे हैं। उधर, प्रदेश कांग्रेस के मीडिया विभाग के अध्यक्ष केके मिश्रा ने कहा कि भाजपा विचारधारा की सोच किस स्तर की है, यह वरिष्ठ पत्रकार पीयूष बबेले के विरुद्ध लगाई गईं धाराओं से स्पष्ट होता है। वे कांग्रेस के पदाधिकारी नहीं हैं। पार्टी उनकी साथ पूरी ताकत के साथ खड़ी है।

इन धाराओं में दर्ज हुई कांग्रेस नेताओं पर प्राथमिकी

- 153बी - राष्ट्रीय एकता के खिलाफ प्रभाव डालने वाले भाषण देना या लांछन लगाना जैसी बातें कहना।

- 504- शांति भंग करने के इरादे से जानबूझकर आपत्तिजनक बातें कहना।

- 505(1)- एक वर्ग या समुदाय को दूसरे वर्ग या समुदाय के विरुद्ध अपराध करने के लिए उकसाना।

- 505(2)- विभिन्य समुदाय के बीच शत्रुता, घृणा और वैमनस्य की भावनाएं पैदा करने के आशय से झूठे बयान आदि फैलाना।

- 120बी- षड्यंत्र करना।

इनका कहना है

शिकायत के बाद दो कांग्रेस नेता अभय तिवारी व पीयूष बबेले पर प्राथमिकी दर्ज की गई है।

- अमित कुमार पुलिस उपायुक्त क्राइम ब्रांच, भोपाल

खरगोन के सनावद में अज्ञात लोगों पर प्राथमिकी दर्ज

उधर, खरगोन के सनावद थाने में राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में व‍िवादित नारे लगाने के मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ धारा 153 बी और धारा 188 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। वीडियो के आधार पर पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close