Madhya Pradesh News: भोपाल (नईदुनिया स्टेट ब्यूरो)। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने पूर्व गृह मंत्री और पीसीसी के अनुसूचित जाति विभाग के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने वाले महेंद्र बौद्ध को मंगलवार को पार्टी से निष्कासित कर दिया। बौद्ध ने मंगलवार को बहुजन समाज पार्टी की सदस्यता ली, जिसके बाद कांग्रेस ने उनके निष्कासन का निर्णय लिया।

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की सरकार में महेंद्र बौद्ध गृह मंत्री रहे थे। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने सुरेंद्र चौधरी को पीसीसी का कार्यकारी अध्यक्ष बनाए जाने के बाद उन्हें अनुसूचित जाति विभाग का प्रदेश अध्यक्ष बनाया था। बौद्ध ग्वालियर अंचल में उपचुनाव के लिए घोषित प्रत्याशियों की सूची को लेकर नाराज चल रहे थे। वे भांडेर से चुनाव लड़ने के इच्छुक थे, लेकिन पार्टी ने बसपा के पूर्व नेता और बहुजन संघर्ष दल से कांग्रेस में आए फूलसिंह बरैया को उम्मीदवार घोषित कर दिया था।

अजा नेताओं की उपेक्षा का लगाया था आरोप

बौद्ध ने प्रदेश नेतृत्व पर अनुसूचित जाति विभाग के नेताओं और कार्यकर्ताओं की उपेक्षा का आरोप लगाया था। उनका कहना था कि अनुसूचित जाति की सीटों के प्रत्याशी चयन में अनुसूचित जाति विभाग या उसके पदाधिकारियों से कोई राय-मशविरा नहीं लिया गया।

अपनी तरफ से जब बात रखी गई तो उसे भी अनदेखा किया गया। यह आरोप महेंद्र बौद्ध ने अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अनुसूचित जाति विभाग के अध्यक्ष को पद से इस्तीफे के लिए भेजे गए पत्र में भी लगाए थे। पीसीसी के प्रशासन प्रभारी महामंत्री राजीव सिंह ने कहा कि नाराजगी को लेकर बौद्ध से सोमवार को भी चर्चा हुई थी और नाराजगी दूर करने का प्रयास किया था।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020