Madhya Pradesh News: भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)।मध्य प्रदेश की सरकार स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार को लेकर कई कदम उठा रही है। आने वाले समय में हमारी कोशिश है कि हम और बेहतर काम करें। स्वास्थ्य सेक्टर एक बड़ा क्षेत्र है और इसमें अकेले सरकार के भरोसे रहने से कुछ नहीं होगा। हम सबको एक साथ आगे बढ़ने की जरूरत है। हमारी सरकार इस बात पर विचार कर रही है कि मध्य प्रदेश के अंदर स्वास्थ्य क्षेत्र में निजी भागीदारी बढ़ाई जाए। हम प्रयास कर रहे हैं कि पीपीपी मॉडल पर प्रदेश में कॉलेज खोले जाएं। यह बात मध्य प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कही है। वे शनिवार को राजधानी भोपाल के होटल रेडिशन में आयोजित मध्य प्रदेश ऑर्थोपेडिक्स सोसाइटी की दो दिवसीय कार्यशाला के शुभारंभ अवसर पर बोल रहे थे।चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि डॉक्टर एक प्रबुद्ध वर्ग है और स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के लिए हमेशा तत्पर रहते हैं इसलिए इस दो दिवसीय कार्यशाला में विचार करके डॉक्टर सरकार को स्वास्थ्य सेवाओं में बेहतर सुधार के लिए सुझाव दे सकते हैं। हम सुझावों पर अमल करने के प्रयास करेंगे।

मंत्री ने दिए दस्तावेज तैयार करने के सुझाव

मंत्री विश्वास सारंग मध्य प्रदेश ऑर्थोपेडिक्स सोसायटी के पदाधिकारियों को पाठशाला में की जाने वाली चर्चा और प्रयोगों पर दस्तावेज तैयार करने के सुझाव दिए हैं। मंत्री ने कहा कि

ऑर्थोपेडिक्स कार्यशाला का दस्तावेज तैयार कर उन लोगों तक पहुंचाएं जो इस कार्यशाला में नहीं पहुंच पाए हैं। निश्चित है ऐसा करने से कार्यशाला का मकसद पूरा होगा और इस कार्यशाला में विशेषज्ञों द्वारा हड्डी रोगों के इलाज को लेकर की गई चर्चा और प्रयोग ज्यादा से ज्यादा डॉक्टर तक पहुंच सकेंगे। तभी सही मायने में कार्यशाला का मकसद पूरा हो सकेगा। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि हड्डी की बीमारियों कई मरीज जूझ रहे हैं उन्हें समय पर सही सलाह और इलाज की जरूरत है यह दोनों मिल जाए तो गंभीर से गंभीर मरीज को भी नुकसान से बचाया जा सकता है।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local