भोपाल (नवदुनिया स्टेट ब्यूरो)। Madhya Pradesh News मध्यप्रदेश में 15 महीने पुरानी कमल नाथ सरकार को अल्पमत में साबित कर सत्ता पलटने में मप्र के दिग्गज भाजपा नेताओं ने पुख्ता मैदानी भूमिका संभाली। साथ ही दिल्ली में सक्रिय हाईकमान के नेताओं से निरंतर संवाद बनाए रखा। दो सप्ताह तक 'ऑपरेशन लोटस" के लिए सभी दिग्गजों ने दिन-रात मेहनत की और निर्धारित रणनीति पर चरण बद्ध तरीके से पहल की।

मध्यप्रदेश में सत्ता के संकट की शुरुआत उसी दिन शुरू हो गई थी जिस दिन सिंधिया समर्थक कुल 22 विधायकों ने अपनी ही कमल नाथ सरकार के खिलाफ बगावती बिगुल फूंका। इसके साथ ही भाजपा हाईकमान ने कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को भाजपा की सदस्यता दिलाकर 'ऑपरेशन लोटस" की सफलता सुनिश्चित कर दी। दो सप्ताह तक सियासी गतिविधियां चलती रहीं और अंतत: 14 मार्च को राज्यपाल लालजी टंडन के मुख्यमंत्री को बहुमत साबित करने के निर्देश से भाजपा की राह आसान हो गई।

मप्र के स्तर पर इस पूरी मुहिम की अगुवाई प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने की। उनके साथ नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव पूर्व मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा, भूपेंद्र सिंह और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने टीम के रूप में एक-एक कदम पूरी रणनीति के साथ उठाया।

विधायक अरविंद भदौरिया को बैंगलुरु में बागी विधायकों से संपर्क बनाए रखने की जवाबदारी सौंपी गई। शिवराज, भार्गव, वीडी और नरोत्तम की चौकड़ी ने राजभवन पर लगातार दबाव बनाए रखा। दिल्ली के मार्गदर्शन में इन सभी नेताओं ने मप्र के स्तर पर पूरा दबाव बनाए रखा।

राजभवन से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक मामले को पुख्ता तरीके से पेश करने में दिल्ली के साथ पूरा तालमेल बनाए रखा। मामले को सुप्रीम कोर्ट में पेश करने की तैयारी इतनी पुख्ता थी कि 16 मार्च को जैसे ही स्पीकर एनपी प्रजापति विधानसभा का बजट सत्र स्थगित किया चंद मिनटों के भीतर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर दी गई। उसके बाद कमल नाथ सरकार की उल्टी गिनती सुनिश्चित हो गई।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस