भोपाल। नईदुनिया स्टेट ब्यूरो। Madhya Pradesh News प्रदेश में बस और टैक्सियों के ड्राइवरों को यात्रियों के साथ व्यवहार करने का प्रशिक्षण दिया जाएगा। क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी और जिला परिवहन अधिकारी इस काम को अंजाम देंगे। इसमें न सिर्फ ड्राइवरों को यात्रियों के साथ किस तरह का व्यवहार करना है, बताया जाएगा, बल्कि उनकी सुरक्षा से जुड़ी जानकारियां भी दी जाएंगी।

उल्‍लेखनीय है कि मध्‍यप्रदेश में विधानसभा चुनाव के समय कांग्रेस ने वचनपत्र में यह वादा किया था कि बस और टैक्सी चालकों को यात्रियों की सुरक्षा और उनके सम्मान, व्यवहार को लेकर प्रशिक्षित किया जाएगा। इसे पूरा करते हुए परिवहन विभाग ने नई व्यवस्था लागू करने का फैसला किया है।

विभाग के प्रमुख सचिव एसएन मिश्रा ने सभी क्षेत्रीय परिवहन, जिला परिवहन अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि पंजीकृत सभी बस और टैक्सी के ड्राइवरों को प्रशिक्षण दिया जाए। इसमें ड्राइवरों को यात्रियों, उनके सामान, सुरक्षा और यात्रियों से व्यवहार करने के बारे में बताया जाएगा।

इसके साथ ही दिशा-निर्देश के पेंफ्लेट भी तैयार करके ड्राइवरों को बांटे जाएंगे। प्रशिक्षण कार्यक्रमों में वाहन मलिकों को भी शामिल किया जाएगा, ताकि वे अपने ड्राइवरों से दिशा-निर्देशों का पालन सुनिश्चित करवाएं।

सरकारी योजना में मिले वाहनों का नि:शुल्क होगा पंजीयन

विभाग ने एक और वचन पूरा करने की तैयारी शुरू कर दी है। परिवहन आयुक्त को विभाग ने निर्देश दिए हैं कि शासकीय योजना के तहत दिए जाने वाले दोपहिया वाहनों का पंजीयन नि:शुल्क करने की कार्रवाई की जाए। इसके लिए योजना का खाका बनाकर प्रस्तुत किया जाए, ताकि इसे कैबिनेट में रखकर अनुमति ली जा सके।

Posted By: Hemant Upadhyay