भोपाल। नवदुनिया स्टेट ब्यूरो। प्रदेश के सात शहरों में लोक निर्माण विभाग नए रेस्ट हाउस बनाएगा। इसके लिए विभाग ने इंदौर, होशंगाबाद, जबलपुर, मुरैना, आगर-मालवा, नरसिंहपुर और धार में भूमि का चयन कर लिया है। विभाग ने तय किया है कि वह अपनी ऐसी परिरसंपत्ति, जो दूसरे उपयोग में आ सकती हैं, उन्हें लोक परिसंपत्ति प्रबंधन विभाग की पंजी में दर्ज कराएगा। इसके लिए सभी मुख्य अभियंता, अधीक्षण और कार्यपालन यंत्रियों को भविष्य की जरूरत के हिसाब से परिसंपत्तियों की उपयोगिता को देखते हुए सूची तैयार करने के लिए कहा है।

विभागीय अधिकारियों ने बताया कि परिसंपत्तियों को तीन श्रेणियों में बांटा जा रहा है। पहली श्रेणी में वह संपत्ति रखी जाएगी जो संभाग और जिला मुख्यालय में स्थित होगी। दूसरी श्रेणी में महत्वपूर्ण शहर और तीसरी श्रेणी में अन्य शहरों में स्थित परिसंपत्तियों को रखा जाएगा।

दरअसल, मध्य प्रदेश में लोक परिसंपत्ति विभाग का गठन होने के बाद सभी विभागों से उन परिसंपत्तियों की जानकारी एकत्र कराई जा रही है, जो उनके लिए अनुपयोगी हैं। लोक निर्माण विभाग ने भी अपनी परिसंपत्तियों का रिकॉर्ड तैयार करना शुरू कर दिया है। नए विश्रामगृह के निर्माण के लिए पुराने विश्रामगृहों की भूमि का ही चयन किया है। विभाग के प्रमुख सचिव नीरज मंडलोई की अध्यक्षता में हुई बैठक में तय किया गया है कि सभी विश्राम गृह में एकरूपता के लिए एक जैसे डिजाइन रखी जाएगी।

दो वीआइपी सूट के अलावा चार कक्ष रहेंगे

नए विश्रामगृह में दो सौ व्यक्तियों के कैंप के लिए पर्याप्त जगह के साथ पार्किंग, दो वीआइपी सूट, चार कक्ष, 20 व्यक्तियों के बैठने के लिए बड़ा कक्ष रहेगा। ड्राइंग रूम, डायनिंग रूम, किचन के साथ भविष्य की जरूरत के हिसाब से निर्माण कार्य कराया जाएगा।

जबलपुर और मुरैना में बनेंगे आवासीय ब्लॉक

विभाग ने तय किया है कि जबलपुर स्थित सब डिवीजन ऑफिस परिसर में आठ-आठ फ्लैट वाले एफ, जी और एच श्रेणी के आवासीय ब्लॉक बनाए जाएंगे। वहीं, मुरैना स्थित रेस्ट हाउस परिसर में जी श्रेणी का आठ फ्लैट वाला चार मंजिला आवासीय ब्लॉक बनाया जाएगा।

यहां बनेंगे नए विश्राम गृह

इटारसी विश्रामगृह, होशंगाबाद

सिमरोल विश्रामगृह, इंदौर

अंबाह विश्रामगृह, मुरैना

विश्रामगृह, मुरैना शहर

सोयत विश्रामगृह सुसनेर, आगर मालवा

तेंदूखेड़ा विश्रामगृह नरसिंहपुर

मंगोद विश्रामगृह धार

अनुविभागीय कार्यालय, जबलपुर शहर

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags