Madhya Pradesh News: भोपाल(नवदुनिया स्टेट ब्यूरो)। मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र के बीच अब 30 जून तक यात्री बस-अन्य वाहन नहीं चलेंगे। परिवहन विभाग ने एक बार फिर दोनों राज्यों के बीच परिवहन पर रोक की अवधि बढ़ा दी है। इस संबंध में मंगलवार को अपर परिवहन आयुक्त अरविंद सक्सेना ने निर्देश जारी कर दिए हैं। इससे पहले 22 जून तक परिवहन पर रोक थी।

परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने बताया कि प्रदेश के सभी जिलों में संक्रमण कम हो गया है पर महाराष्ट्र में अभी मामले सामने आ रहे हैं। महाराष्ट्र से यात्री आएंगे, तो प्रदेश में फिर से संक्रमण बढ़ सकता है। इसी को ध्यान में रखकर यह निर्णय लिया है। उल्लेखनीय है कि सरकार ने कोरोना संक्रमण से बचाव के चलते अप्रैल 2021 से मध्य प्रदेश-महाराष्ट्र के बीच परिवहन पर रोक लगाई है, जो लगातार बढ़ाई जा रही है।

राजस्व बढ़ाने के लिए सभी विभागों की बनेगी कार्ययोजना

कोरोना के कारण प्रभावित अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए राजस्व बढ़ाने पर सभी विभागों को जोर देना होगा। राजस्व बढ़ाने और संग्रहण की व्यवस्था में सुधार करने के लिए विभागों की कार्ययोजना बनाई जाएगी। कर चोरी के मामलों की पहचान करने के साथ ईमानदार करदाताओं को प्रोत्साहित और पुरस्कृत करने के साथ बकाया वसूली के लिए समाधान योजना भी बनाई जाएगी। राजस्व बढ़ाने के विकल्प सुझाने के लिए गठित मंत्री समूह ने बैठक करके सभी संभावनाओं पर विचार किया। बैठक में वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा, राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत, खनिज साधन मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह, उद्योग मंत्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव, नगरीय विकास एवं आवास राज्यमंत्री ओपीएस भदौरिया ने विचार किया।

मंत्री समूह की बैठक में चर्चा, हर जिले में खुलेंगे कामकाजी महिला छात्रावास

महिलाओं को सशक्त बनाने की दिशा में काम कर रही सरकार प्रदेश के प्रत्येक जिले में कामकाजी महिलाओं के लिए छात्रावास खोलने की तैयारी कर रही है। मंगलवार को मंत्रालय में आयोजित मंत्री समूह की बैठक में इस पर विस्तार से चर्चा हुई है। अंतरविभागीय मंत्री समूह का गठन महिला सशक्तिकरण एवं बाल कल्याण से संबंधित लक्ष्यों को हासिल करने के लिए किया गया है।

बैठक में गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने राज्य में महिला नीति, महिला उद्यमों को विशेष प्रोत्साहन देने, जिलों में छात्रावास खोलने के साथ ही अन्य कई मुद्दों पर विभागों की प्रस्तुति पर चर्चा की। बैठक में खेल एवं युवा कल्याण मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया, स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी और पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर सहित महिला-बाल विकास विभाग एवं अन्य विभागों के वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local