भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। Madhya Pradesh News : सरकारी स्कूलों में शिक्षक बनने की आस में हजारों पात्र अभ्यर्थी दो साल से इंतजार कर रहे हैं। अभी तक तो शासन से अनुमति न मिलने से भर्ती प्रक्रिया शुरू नहीं हो पा रही थी। डेढ़ साल बाद जैसे-तैसे भर्ती प्रक्रिया शुरू हुई तो लॉकडाउन ने सपनों पर पानी फेर दिया। इस सत्र से पढ़ाने का सपना देख रहे भावी शिक्षकों को अभी और इंतजार करना पड़ेगा।

स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा 20,670 उच्च माध्यमिक व माध्यमिक शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया शुरू हो गई है। दस्तावेज अपलोड भी कर दिए गए, लेकिन सत्यापन नहीं हो पाया। विभाग का कहना है कि जून से सत्यापन कार्य शुरू होने की संभावना है।

इसके बाद इन शिक्षकों को नए माड्यूल के तहत जुलाई महीने में एक माह के लिए प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके बाद अगस्त से स्कूलों में शिक्षक पढ़ाने लगेंगे। लोक शिक्षण संचालनालय के अधिकारी ने बताया कि लॉकडाउन खत्म होते ही दस्तावेजों का सत्यापन का काम शुरू कर दिया जाएगा। जिला स्तर पर दस्तावेजों का सत्यापन के बाद विभाग अंतिम चयन सूची व प्रतिक्षा सूची जारी होगी। ज्ञात हो कि 2018 से शिक्षक नियुक्ति प्रक्रिया शुरू हुई है।

शिक्षकों को दी जाएगी ट्रेनिंग

स्कूल शिक्षा विभाग ने नव नियुक्त शिक्षकों को दिल्ली की तर्ज पर प्रशिक्षण देने के लिए एक कमेटी का गठन किया है। विभाग ने शिक्षकों के प्रशिक्षण के लिए मॉड्यूल तैयार किया है। इन्हें स्कूल में पढ़ाने जाने से पहले ट्रेनिंग दी जाएगी।

इनका कहना है

उच्च माध्यमिक व माध्यमिक शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया लॉकडाउन के कारण रुक गई है। जून से भर्ती प्रक्रिया शुरू होने की उम्मीद है। दस्तावेजों का सत्यापन होना है। यह प्रक्रिया लॉकडाउन के बाद ही शुरू होगी।

- गौतम सिंह, संचालक, डीपीआई

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना