भोपाल (नईदुनिया स्टेट ब्यूरो)। प्रदेश में 27 विधानसभा सीटों के उपचुनाव की घोषणा होने से पहले ही शिकवा-शिकायत का सिलसिला शुरू हो गया है। भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर महाराष्ट्र के साकेत गोखले ने शिकायत की है कि उन्होंने ग्वालियर में उपचुनाव के प्रचार के लिए पुलिस के वाहन का उपयोग किया। इस पर मप्र के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय ने राज्य के गृह विभाग से तीन दिन में जांच रिपोर्ट मांगी है।

उधर, कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह, अहमद पटेल, कपिल सिब्बल और विवेक तन्खा ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से चुनाव आयोग को प्रदेश सरकार द्वारा गरीब सेवा सप्ताह के माध्यम से मतदाताओं को प्रलोभन देने की शिकायत की। चुनाव आयोग से भी शिकायत मप्र के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के अधिकारियों ने बताया कि महाराष्ट्र से 13 और 14 सितंबर को ईमेल के माध्यम से शिकायत प्राप्त हुई थी कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने उपचुनाव के लिए पुलिस के वाहन का उपयोग किया। प्रमाण के तौर पर फोटो की प्रति भी प्राप्त हुई है।

बताया जा रहा है कि चुनाव आयोग में भी यह शिकायत हुई थी, जिसे आगे कार्रवाई के लिए मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को भेजा गया था। इस पर कार्रवाई करते हुए गृह विभाग से तीन दिन में जांच रिपोर्ट मांगी गई है। गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव डॉ. राजेश राजौरा ने रिपोर्ट मांगे जाने की पुष्टि की है।

सेवा सप्ताह के खिलाफ आयोग पहुंचे चार कांग्रेस नेता

उधर, केंद्रीय चुनाव आयोग से कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य अहमद पटेल, दिग्विजय सिंह, कपिल सिब्बल और विवेक तन्खा ने शिकायत की है कि मप्र की भाजपा सरकार मतदाताओं को प्रलोभन देने के लिए गरीब सेवा सप्ताह मना रही है। इसमें मतदाताओं को विभिन्न योजनाओं में लाभांवित किया जा रहा है। इसमें उपचुनाव वाले क्षेत्रों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इस पर रोक लगाई जाए, ताकि निष्पक्ष चुनाव हो सकें। बताया गया है कि आयोग ने शीघ्र निर्णय लेने का आश्वासन दिया है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020