भोपाल। नवदुनिया स्टेट ब्यूरो। Madhya Pradesh News सहकारिता विभाग ने यौन उत्पीड़न के मामले में इंदौर के उपायुक्त सहकारिता एवं पंजीयक सहकारी संस्थाएं राजेश क्षत्री को निलंबित कर दिया है। उनके खिलाफ एक महिला अफसर सामान्य प्रशासन मंत्री डॉ. गोविंद सिंह के पास पहुंच गई थी। महिला ने मंत्री डॉ. सिंह को आरोपित अफसर क्षत्री द्वारा उन्हें भेजे गए मैसेज दिखाए, तो मंत्री ने संबंधित के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करने के आदेश दिए थे।

महिला को हाट्सएप पर अश्लील मैसेज भेज रहा था सहकारिता उपायुक्‍त

आरोपित क्षत्री लंबे समय से महिला अफसर को परेशान कर रहा था। उसे व्‍हाट्सएप पर अश्लील मैसेज भेज रहा था। महिला ने इसकी शिकायत कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न मामलों की रोकथाम और सुनवाई के लिए विभागीय स्तर पर गठित समिति से की, लेकिन समिति कुछ नहीं कर पाई, तो पीड़ित महिला संबंधित अफसर के खिलाफ एसएसपी इंदौर के पास गई।

पीड़िता व्‍हाट्सएप मैसेज के प्रिंट आउट लेकर बुधवार सुबह मंत्री डॉ. सिंह के बंगले पर पहुंची

वहां से भी जब कोई कार्रवाई नहीं हुई, तो पीड़िता व्‍हाट्सएप मैसेज के प्रिंट आउट लेकर बुधवार सुबह मंत्री डॉ. सिंह के बंगले पर पहुंच गई।

पीड़िता ने मंत्री को आरोपित अफसर द्वारा भेजे गए मैसेज दिखाए और आपबीती सुनाई। मैसेज देखने के बाद मंत्री ने सहकारिता विभाग के वरिष्ठ अफसरों को मामले की जांच कर कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे।

विभाग के अफसरों ने पीड़िता के मोबाइल में भेजे गए मैसेज देखने के बाद प्रथम दृष्टया उपायुक्त क्षत्री को दोषी मानते हुए निलंबन की कार्रवाई की है। उन्हें निलंबन अवधि में आयुक्त सहकारिता एवं पंजीयक सहकारी संस्थाएं कार्यालय में अटैच किया गया है।

Posted By: Hemant Upadhyay

fantasy cricket
fantasy cricket