भोपाल। नईदुनिया प्रतिनिधि। Madhya Pradesh News प्रदेश के सरकारी व निजी स्कूलों में खेल व शारीरिक शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग एक नया प्रयास कर रहा है। स्कूल शिक्षा विभाग और खेल एवं युवा कल्याण मंत्रालय द्वारा स्कूलों में फिट इंडिया स्कूल कार्यक्रम अभियान चलाया जा रहा है।

यह अभियान दिसंबर से शुरू हो चुका है। अभी तक प्रदेश के पांच हजार स्कूलों ने आवेदन किया है। इसमें शासकीय उत्कृष्ट उमावि नंबर-1 भिंड और शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय महेश्वर (खरगोन) को फिट स्कूल घोषित किया गया और उन्हें फिट इंडिया स्कूल का प्रमाणपत्र भी प्रदान किया गया है। इन दोनों स्कूलों को आवेदन में संलग्न किए गए दस्तावेजों के आधार पर फिट इंडिया का प्रमाण पत्र दिया गया है।

इस अभियान में उन स्कूलों को फिट घोषित किया जाएगा, जिनके यहां खेल शिक्षक, खेल मैदान और शारीरिक शिक्षा को प्राथमिकता देते हो। इस संबंध में लोक शिक्षण संचालनालय (डीपीआई) ने संभागीय संयुक्त संचालकों और जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश जारी कर अधिक से अधिक स्कूलों को इस अभियान में शामिल करने के आदेश दिए हैं।

तीन तरह के मापदंड तय

अभियान में फिट इंडिया रेटिंग के तीन तरह के मापदंड तय किए गए हैं। स्कूलों को फिट इंडिया स्कूल,फिट इंडिया थ्री स्टार स्कूल और फिट इंडिया 5 स्टार रेटिंग दी जाएगी।

बच्चों के शारीरिक स्वास्थ्य को लेकर निर्णय

विभाग ने आदेश में इस बात का उल्लेख किया है कि इस अभियान में बच्चों को सेहत से जोड़ा गया है। यह देखते हुए स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को शारीरिक रूप से स्वस्थ रखने के लिए कई गतिविधियां आयोजित की जाएंगी। इसमें योग, स्वास्थ्य व पोषण पर गतिविधियां, व्यायाम,मानसिक स्वास्थ्य गतिविधियां, खेलो इंडिया एप के माध्यम से छात्रों के फिटनेस आंकलन की शुरुआत, फिट बॉडी-फिट माइंड- फिट एनवायरनमेंट विषय पर पोस्टर प्रतियोगिता, डांस, मार्शल आर्ट्स, रस्सी कूद आदि शामिल है।

फिट इंडिया स्कूल के मापदंड

- खेल का मैदान हो, जिसमें दो से अधिक आउटडोर खेल खेले जाते हों।

- प्रतिदिन प्रत्येक कक्षा में एक शारीरिक शिक्षा की कक्षा लगाई जाए।

- सभी छात्र प्रतिदिन 60 मिनट या अधिक शारीरिक गतिविधि में संलग्न रहते हों।

- स्कूल के सभी शिक्षक शारीरिक रूप से फिट हों, शारीरिक शिक्षा में दक्ष हो।

- स्कूल में दो या दो से अधिक शिक्षक खेल या शारीरिक शिक्षा का हो।

- स्कूल में दो आउटडोर खेलों सहित चार खेलों की खेल सुविधा उपलब्ध हो।

- स्कूल में मासिक खेल प्रतियोगिता और वार्षिक खेल दिवस आयोजित किया जाता हो।

- एनसीईआरटी या बोर्ड द्वारा निर्धारित शारीरिक शिक्षा का पाठ्यक्रम का अनुसरण करता हो।

- सभी छात्रों का वार्षिक फिटनेस असेसमेंट किया जाता हो।

इनका कहना है

प्रदेश के अधिक से अधिक स्कूल को फिट स्कूल का प्रमाण पत्र हासिल करना हमारा लक्ष्य है। इस अभियान में अधिक से अधिक स्कूल शामिल करने के लिए प्रयासरत हैं। अभी दो स्कूलों को फिट स्कूल का प्रमाण्ापत्र मिला है।

- जयश्री कियावत, आयुक्त, डीपीआई

Posted By: Hemant Upadhyay

fantasy cricket
fantasy cricket