Madhya Pradesh News: भोपाल(राज्य ब्यूरो)। मध्य प्रदेश में सवा साल कांग्रेस की सरकार रही, तब आदिवासियों को पट्टे क्यों नहीं दिए? किसने रोका था। यह बात नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कही। वे मंगलवार को कांग्रेस के आरोपों पर मीडिया से बात कर रहे थे। सिंह ने कहा कि कांग्रेस को गरीबों से कोई मतलब नहीं है। यदि होता, तो अपने साठ साल के शासन में गरीब कल्याण के काम करती और अब जब भाजपा काम कर रही है, तो आपत्ति दर्ज करा रही है। जनता के काम पर आपत्ति करना कांग्रेस का चरित्र है।

मंत्री ने कहा कि उपचुनाव आए तो कांग्रेस को आदिवासी और उनके पट्टों की याद आ रही है। जबकि कांग्रेस की सरकार के समय प्रदेश में आदिवासियों का अपमान किया गया। क्या कमल नाथ उस पर जवाब देंगे। कांग्रेस वोट बटोरने की राजनीति कर रही है। इस विषय पर राजनीतिक रोटियां सेंकना चाहती है।

राज्य सरकार की विभिन्न् योजनाओं को लेकर कांग्रेस के पलटवार पर मंत्री ने कहा कि कांग्रेस एक तरफ कहती है कि हम (सरकार) गरीबों की मदद नहीं कर रहे और दूसरी तरफ हमारे द्वारा गरीब हित में किए गए कामों को ही गलत ठहरा रही है। गरीबों के कल्याण के लिए चलाई जा रही योजनाओं से कांग्रेस को आपत्ति है और इसी कारण कांग्रेस की दुर्दशा हो रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस बगैर आकलन किए घोषणा कर देती है और फिर कहती है ऐसा पांच साल को ध्यान में रखकर कहा गया था।

मंत्रिमंडल के फैसलों को लेकर कांग्रेस की आपत्ति पर मंत्री ने कहा कि ये पूरे प्रदेश के कल्याण का मामला है। सरकार को ऐसे निर्णय लेने का अधिकार है। कांग्रेस ने तो गरीब, किसान और आदिवासी वर्ग के लिए कुछ नहीं किया, अब जब हम बिजली कंपनी को सब्सिडी, आदिवासियों को निशुल्क राशन, खराब फसल के लिए मुआवजा दे रहे हैं, तो कांग्रेस को आपत्ति क्यों है। कांग्रेस सरकार के समय भी प्रदेश में प्राकृतिक आपदा आई थी, तब किसानों को एक पैसे की राहत नहीं दी गई। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बिजली कंपनियों को 20 हजार करोड़ रुपये की सब्सिडी देने की घोषणा की है। घरेलु उपभोक्ताओं को सस्ती बिजली देने के कारण सरकार पांच हजार करोड़ की सब्सिडी भी कंपनियों को दे रही है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local