Madhya Pradesh Police: भोपाल (नईदुनिया स्टेट ब्यूरो)। महिला सम्मान और छेड़छाड़ की घटनाओं पर सजा के प्रविधान को लेकर मध्य प्रदेश पुलिस ने जो पोस्टर छपवाए हैं, उनका उपयोग पंजाब पुलिस भी कर रही है। पंजाब पुलिस की मांग पर मध्य प्रदेश से यह पोस्टर उपलब्ध करवाए गए हैं। पंजाब पुलिस ने मप्र पुलिस के स्लोगन का पंजाबी में अनुवाद करवाया है। इसके अलावा औरंगाबाद पुलिस कमिश्नर और राजस्थान पुलिस की ओर से भी इनकी मांग आई है। मप्र की ओर से सभी राज्यों को इन्हें उपलब्ध कराया जा रहा है। महिलाओं को न्याय दिलाने के लिए गठित ऊर्जा डेस्क की कार्यप्रणाली के बारे में बेंगलुरु पुलिस ने जानकारी मांगी है। वहां की पुलिस अपने यहां इस तर्ज पर काम शुरू करना चाहती है।

महिलाओं को समाज में सम्मान दिलाने और उनसे छेड़छाड़ व फब्तियां कसने जैसे अपराधों पर सजा की जानकारी देने वाले पोस्टर मध्य प्रदेश पुलिस की महिला अपराध शाखा ने कुछ माह पूर्व तैयार करवाए थे। ये प्रदेशभर में सार्वजनिक स्थानों और पुलिस थानों में लगवाए गए हैं।

इंटरनेट मीडिया सहित अन्य प्रचार माध्यमों से इसकी जानकारी अन्य प्रदेशों की पुलिस तक भी पहुंची। इसके बाद वहां के पुलिस अधिकारियों ने प्रदेश के पुलिस अधिकारियों से संपर्क कर इस नवाचार के बारे में जानकारी प्राप्त की। पंजाब पुलिस ने पोस्टरों में स्र्चि दिखाई और इन्हें देने का अनुरोध किया। पंजाब पुलिस इन पोस्टरों का पंजाबी में अनुवाद कर अपने राज्य में इसेे जगह-जगह लगा रही है। पोस्टरों की ऐसी ही मांग राजस्थान पुलिस के अलावा औरंगाबाद पुलिस कमिश्नर ने भी की है।

अपराध के बारे में है जानकारी

मप्र पुलिस ने महिला अपराधों की जानकारी देने वाले 23 पोस्टर बनवाए हैं। इनमें किस अपराध के लिए कितनी सजा हो सकती है, इस बारे में जानकारी दी गई है। अन्य राज्यों से जब पोस्टर की मांग आती है तो उन्हें ऐसे प्रारूप में उपलब्ध कराया जाता है कि वे अपने राज्य के हिसाब से उसमें संशोधन कर सकें। महिला अपराधों के मामले में गठित ऊर्जा डेस्क को लेकर बेंगलुरु पुलिस द्वारा मांगी गई जानकारी साझा करने की तैयारी है। ऊर्जा डेस्क में महिला अधिकारी ही महिला अपराधों के मामलों में अग्रणी भूमिका निभाती हैं।

इनका कहना

महिला अपराधों के मामले में मप्र पुलिस की कार्यप्रणाली को लेकर अन्य राज्यों से भी जानकारी मांगी गई है। हमारी ओर से भी उनकी आवश्यकताओं के अनुसार दस्तावेज उपलब्ध कराए जा रहे हैं।

- प्रज्ञा ऋचा श्रीवास्तव, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, महिला अपराध

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags