Madhya Pradesh Sahitya Academy: भोपाल(नवदुनिया प्रतिनिधि)। मध्य प्रदेश साहित्य अकादमी भोपाल द्वारा 13 अखिल भारतीय एवं 15 प्रादेशिक कृति पुरस्कार कैलेंडर वर्ष 2019 की घोषणा कर दी गई है। अखिल भारतीय प्रति पुरस्कार एक लाख रुपये एवं प्रादेशिक प्रति पुरस्कार में 51 हजार रुपये के साथ शाल, श्रीफल, स्मृति चि- और प्रशस्ति पत्र से रचनाकारों को अलंकृत किया जाता है।

अखिल भारतीय पुरस्कार: पं. माखनलाल चतुर्वेदी (निबंध) डा. मनोज पांडेय, नागपुर की कृति आलोचना के नए परिप्रेक्ष्य, गजानन माधव मुक्तिबोध (कहानी) सधिादानंद जोशी, दिल्ली की कृति पलभर की पहचान, राजा वीरसिंह देव (उपन्यास) प्रो. मनीषा शर्मा, अमरकंटक की कृति ये इश्क..., आचार्य रामचंद्र शुक्ल (आलोचना) डा. कविता भट्ट, उत्तराखंड की कृति भारतीय साहित्य में जीवन मूल्य, पं. भवानी प्रसाद मिश्र (गीत एवं हिंदी गजल) डा. आरपी सारस्वत, सहारनपुर की कृति तुम बिन, अटल बिहारी वाजपेयी (कविता) डा. इंदु राव, हरियाणा की कृति छांह संस्कृति की, कुवेरनाथ राय (ललित निबंध) राजेश जैन, दिल्ली की कृति ईश्वर की आत्मकथा, विष्णु प्रभाकर (आत्मकथा-जीवनी) डा. कुलदीप चंद अग्निहोत्री, मोहाली की कृति गुरु नानक देवजी, अखिल भारतीय निर्मल वर्मा (संस्मरण) प्रो. सूर्यप्रकाश चतुर्वेदी, इंदौर की कृति बदलती हवाएं, महादेवी वर्मा (रेखाचित्र) प्रशांत पोल, जबलपुर की कृति वे पंद्रह दिन, प्रो. विष्णुकांत शास्त्राी (यात्रा-वृत्तांत) डा. सुधा गुप्ता 'अमृता", कटनी की कृति चलें भ्रमण की ओर, भारतेंदु हरिश्चंद्र (अनुवाद) संतोष रंजन, भोपाल की कृति थेल्मा मेरी कोरिली एवं अखिल भारतीय नारद मुनि (इंटरनेट मीडिया) अजय जैन 'विकल्प", इंदौर को दिया गया है।

प्रादेशिक पुरस्कार: वृंदावन लाल वर्मा (उपन्यास) डा. अश्विनी कुमार दुबे, इंदौर की कृति किसी शहर में, सुभद्रा कुमारी चैहान (कहानी) डा. गरिमा संजय दुबे, इंदौर की कृति दो धु्रवों के बीच की आस, श्रीकृष्ण सरल (कविता) गुरु सक्सेना, नरसिंहपुर की कृति सीता वनवास, प्रादेशिक आचार्य नंददुलारे वाजपेयी (आलोचना) बूला कार,इंदौर की कृति साहित्य मीमांसा, हरिकृष्ण पे्रमी (नाटक) अशोक मनमानी, भोपाल की कृति वतन आजाद देखूं, राजेंद्र अनुरागी (डायरी) राजेश अवस्थी 'लावा" ग्वालियर की कृति अतीत के शब्दबिम्ब, पं. बालकृष्ण शर्मा नवीन (प्रदेश के लेखक की पहली कृति) डा. अन्नापूर्णा सिसोदिया, अशोकनगर की कृति औरत बुद्ध नहीं होती, ईसुरी (लोकभाषा विषयक) आचार्य दुर्गाचरण शुक्ल, टीकमगढ़ की कृति मदन रस बरसें..., प्रादेशिक हरिकृष्ण देवसरे (बाल साहित्य) डा. पे्रमलता नीलम, दमोह की कृति गले का हार, नरेश मेहता (संवाद, पटकथा लेखन) संदीप शर्मा, धार की पटकथा प्रयाग प्रवाह और जयतु सिंहस्थ, जैनेंद्र कुमार जैन (लघुकथा) डा. गिरिजेश सक्सेना, भोपाल की कृति चाणक्य के दांत, प्रादेशिक सेठ गोविंद दास (एकांकी) डा. सुधीर आजाद, भोपाल की कृति मैं खुदीराम त्रौलोक्यनाथ बोस, शरद जोशी (व्यंग्य) मीरा जैन, उज्जैन की कृति हेल्थ हादसा, प्रादेशिक वीरेंद्र मिश्र (गीत) राजेंद्र शर्मा 'अक्षर" भोपाल की कृति संबोधन एवं प्रादेशिक दुष्यंत कुमार (गजल) डा. प्रियंका त्रिपाठी, शहडोल की कृति गुनगुनी सी धूप को दिया गया है।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close