भोपाल। नवदुनिया प्रतिनिधि। Madhya Pradesh State Transport Corporation राज्य परिवहन निगम के सैंकड़ों कर्मचारियों को 11 माह से वेतन नहीं मिला है। बजट की कमी होने का हवाला देकर वेतन रोका गया है। ये मंत्री के बंगले का घेराव कर चुके हैं। अधिकारियों को भी पत्र लिखकर और प्रत्यक्ष मिलकर पीड़ा बता चुके हैं, लेकिन कोई भी वेतन नहीं दिलवा पा रहा है। अब ये 16 जनवरी से परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत के बंगले के सामने बैठने वाले हैं और वेतन नहीं मिलने तक नहीं उठने की चेतावनी दी है।

निगम मंडल अधिकारी, कर्मचारी समन्वय महासंघ के अध्यक्ष अजय श्रीवास्तव का कहना है कि पूर्व में निगम को काम नहीं होने का हवाल देकर जबरन बंद करने का प्रस्ताव दिया था। कार्यरत कर्मचारियों को अन्य विभागों में संविलियन किया जाना था। दोनों ही प्रस्तावों पर अमल नहीं हुआ। कर्मचारी अभी भी निगम में काम कर रहे हैं, लेकिन 11 माह हो चुके हैं अभी तक वेतन नहीं मिला। अब मानव अधिकार आयोग का दरवाजा खटखटाएंगे।

महासंघ के संयोजक अनिल बाजपेयी व उपाध्यक्ष श्याम सुंदर शर्मा ने कहा कि सैंकड़ों कर्मचारी 4 जनवरी को परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत से मिलने पहुंचे। मुलाकात नहीं हुई तो उनके बंगले के सामने बैठ गए। रात 9 बजे मुलाकात हुई। मंत्री ने 9 जनवरी को परिवहन व वित्त विभाग के प्रमुख सचिवों को बुलाकर बैठक की।

इसके बाद संविलियन व रुका हुआ वेतन दिलाने का आश्वासन दिया। अभी तक दोनों ही बातों पर अमल नहीं हुआ है। अजय श्रीवास्तव ने चेतावनी दी है कि सैंकड़ों कर्मचारियों में से कुछ बीमार हैं, उनका इलाज चल रहा था जो वेतन नही मिलने से परेशान हैं। दवा-गोली का खर्च नहीं उठा पा रहे हैं।

महिला कर्मचारियों की आर्थिक स्थिति खराब है। ऊपर से परिवार का तनाव है। मंत्री व अधिकारियों को जानकारी देने के बावजूद वेतन नहीं दिया जाना गंभीर आपत्ति है। इनके खिलाफ 16 जनवरी से अनिश्चितकालीन मोर्चा खोलेंगे।

डाटा एंट्री ऑपरेटरों को 4 माह से वेतन नहीं

डाटा एंट्री ऑपरेटरों को चार माह से वेतन नहीं मिला है। ये परेशान हैं। इन्होंने सरकार से वेतन भुगतान कराने की मांग की है। ये पंचायत राज संचालनालय, प्रदेश के कलेक्टर कार्यालय, जनपद कार्यालयों में कार्यरत हैं। बजट नहीं होने के कारण वेतन भुगतान नहीं होने की बात सामने आई है। इसको लेकर मप्र संविदा अधिकारी कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष रमेश राठौर ने आयुक्त कार्यालय पंचायत राज संचालनालय के अधिकारियों से मंगलवार मुलाकात की है। अधिकारियों को वस्तु स्थिति से अवगत कराया है और वेतन भुगतान कराने की मांग की है।

थथथथ

इीर्ॅािि घीाचैनज थ

ऽऽऽऽ

Posted By: Hemant Upadhyay