भोपाल। अरब सागर पर बना कम दबाव का क्षेत्र और उत्तरप्रदेश पर बने चक्रवात के कारण प्रदेश में मौसम के मिजाज बदल गए हैं। इन सिस्टम के कारण वातावरण में बढ़ी नमी से बादल छा गए हैं। साथ ही प्रदेश के कई स्थानों पर बरसात होने लगी है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक दो दिन बाद मौसम साफ होने पर वातावरण में ठंड का असर बढ़ेगा। हालांकि किसानों से मिली जानकारी के अनुसार बारिश के कारण अनेक स्‍थानों पर फसलें खराब होने की बात भी सामने आ रही है।

रविवार को अनेक स्‍थानों पर गिरा पानी

मौसम विज्ञान केंद्र के प्रवक्ता से इस संबंध में मिली जानकारी के मुताबिक रविवार को सुबह 8:30 बजे से शाम 5:30 बजे तक मंडला में 32, मलाजखंड में 24, सिवनी में 22, उमरिया में 6, जबलपुर में 2.4, सतना और पचमढ़ी में 1, भोपाल में 0.8, इंदौर में 0.2 मिमी. बरसात हुई।

अरब सागर और उप्र पर बना है सिस्‍टम

वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि अरब सागर और उप्र पर बने सिस्टम के अलावा एक ट्रफ(द्रोणिका लाइन) अरब सागर से विदर्भ तक बना हुआ है।

बादल छा गए हैं और कहीं-कहीं बरसात हो रही है

अरब सागर पर बने सिस्टम के अगले 24 घंटे में अबदाब के क्षेत्र में तब्दील होने की संभावना है। इस वजह से मप्र में बादल छा गए हैं और कहीं-कहीं बरसात हो रही है। वातावरण में नमी काफी होने से अभी दो दिन तक मौसम का मिजाज इसी तरह बना रहने की संभावना है। इसके बाद बादल छंटते ही ठंड का असर बढ़ेगा।

रविवार को चार महानगरों का तापमान

शहरअधिकतमन्यूनतम

भोपाल25.521.6

इंदौर25.621.2

जबलपुर24.823.0

ग्वालियर30.420.7

--------------------------

Posted By: Hemant Upadhyay