भोपाल/इंदौर/जबलपुर/नरसिंहपुर। भले ही चक्रवाती तूफान वायु का खतरा टल गया है। लेकिन इसकी वजह से मानसून की रफ्तार धीमी पड़ गई है। फिलहाल मानसून केरल और कर्नाटक के बीच रुक गया है। ऐसे में मध्य प्रदेश को मानसून के लिए अभी और इंतजार करना पड़ेगा। इस बीच आज भोपाल में अचानक मौसम बदला और कई इलाकों में तेज हवा के साथ बारिश शुरू हो गई। गौतम नगर,आईएसबीटी के अलावा शहर के कई क्षेत्रों में बारिश हुई। इससे लोगों को उमस और तेज गर्मी से राहत मिली है।

वहीं इंदौर में आज अचानक मौसम ने करवट ली और बायपास के अलावा कई इलाकों में तेज हवाओं के साथ बारिश हुई। यहां भी वायु चक्रवात की वजह से बुधवार को ही अधिकतम तापमान में चार से पांच डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। जिससे लोगों को गर्म हवा के थपेड़ों से जरूर राहत मिली थी।

भोपाल-इंदौर के अलावा मध्य प्रदेश के कई और शहरों में भी जोरदार बारिश हुई। जबलपुर, नरसिंहपुर में दोपहर बाद तेज हवाओं के साथ बदरा बरसे। बारिश से चलते लोगों को उमस और गर्मी से राहत मिली। आने वाले दिनों में प्री-मानसून एक्टिविटी और बढ़ेगी और बारिश का दौर ऐसे ही चलता रहेगा।

बता दें कि अरब सागर में उठे चक्रवाती तूफान 'वायु' के असर से प्रदेश में बड़े पैमाने पर नमी आने का सिलसिला पहले ही शुरू हो गया है। राजधानी सहित पूरे प्रदेश में दिन के अधिकतम तापमान में गिरावट दर्ज हुई। बादल छाए रहने के कारण गुरुवार को भी अधिकतम तापमान 39.9 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ, जो सामान्य से 2 डिग्री से अधिक रहा। साथ ही बुधवार (43.7) के मुकाबले 3.8 डिग्री से.कम रहा। 30 दिन बाद दिन के पारे में इतनी गिरावट आई है।

बुधवार-गुरुवार की दरमियानी रात का तापमान 30.6 डिग्री से. दर्ज किया गया जो सामान्य से 5 डिग्रीसे. अधिक रहा। उधऱ, गुरुवार को सुबह से आसमान पर आंशिक बादल छाए हुए थे। दोपहर बाद बादल घने भी हुए। इससे दिन के तापमान में अधिक बढ़ोतरी नहीं हो सकी। लेकिन वातावरण में नमी बढ़ने के कारण लोगों को दिनभर उमस सताती रही। मौसम विभाग की मानें तो आने वाले दिनों में दक्षिण-पश्चिमी हवाएं चलेंगी। ऐसे में नमी बढ़ने के कारण आने वाले कुछ दिनों तक शहर में गरज-चमक के साथ हल्की बरसात हो सकती है।

Posted By: Saurabh Mishra