Madhya Pradesh Weather Updatesभोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र गहरे कम दबाव के क्षेत्र में परिवर्तित हो गया है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक इस सिस्टम के झारखंड से बिहार की तरफ आगे बढ़ने की संभावना है। इस वजह से इसके प्रभाव से मध्यप्रदेश में भारी बारिश होने के आसार कम हैं। हालांकि राजधानी सहित प्रदेश के अधिकांश जिलों में रुक-रुक कर बौछारें पड़ने का सिलसिला बना रहेगा।

मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक बुधवार को सुबह साढ़े आठ बजे से शाम साढ़े पांच बजे तक खजुराहो में 38, सागर में 29, ग्वालियर में 23, सिवनी में 14, मलाजखंड में 11, मंडला में 10, नौगांव में नौ, दमोह में आठ, होशंगाबाद में सात, इंदौर में 4.8, पचमढ़ी, सीधी, धार में चार, भोपाल में 2.8, जबलपुर में 2.6, खरगोन, श्यौपुरकलां, छिंदवाड़ा, शाजापुर में दो मिलीमीटर बरसात हुई। बुधवार को राजधानी का अधिकतम तापमान 27.5 डिग्रीसेल्सियस दर्ज किया गया। जो सामान्य से दो डिग्रीसे. कम रहा। साथ ही मंगलवार के अधिकतम तापमान (24.9 मिमी.) की तुलना में 2.6 डिग्रीसे. अधिक रहा। न्यूनतम तापमान 22.5 डिग्रीसे. रिकार्ड किया गया।

इस क्षेत्रों में बारिश के आसार

मौसम विज्ञानी पीके साहा ने बताया कि गुरुवार को ग्वालियर, चंबल संभाग के अलावा रीवा, सतना, अनूपपुर, शहडोल, कटनी, मंडला, बालाघाट, सागर, छतरपुर, टीकमगढ़ जिलों में तेज बौछारें पड़ने के आसार हैं। इसके अलावा भोपाल, होशंगाबाद,उज्जैन एवं इंदौर संभाग के जिलों में गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है।

पांच वेदर सिस्टम हैं सक्रिय

मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में एक गहरा कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। इस सिस्टम के शुक्रवार को झारखंड से बिहार की तरफ आगे बढ़ने के आसार हैं। उत्तरी पाकिस्तान में हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बना हुआ है। मानसून ट्रफ फिरोजपुर, हिसार, मेरठ से होकर बंगाल की खाड़ी में बने सिस्टम तक बना हुआ है। अपतटीय ट्रफ दक्षिणी गुजरात तट से उत्तरी केरल के तट तक बना हुआ है। उत्तरी पाकिस्तान से पश्चिमी राजस्थान होते हुए दक्षिणी गुजरात तक भी एक ट्रफ बना हुआ है। इन पांच वेदर सिस्टम के सक्रिय रहने से अरब सागर और बंगाल की खाड़ी से नमी मिल रही है। इससे प्रदेश के अधिकांश जिलों में बारिश हो रही है।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local