Madhya Pradesh Weather Update : भोपाल (नईदुनिया प्रतिनिधि)। बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र बुधवार को गहरे कम दबाव के क्षेत्र में तब्दील होकर ओडिशा तट पर पहुंच गया है। मानसून द्रोणिका भी ग्वालियर से होकर गुजर रही है। दक्षिणी गुजरात पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इसके अतिरिक्त दक्षिणी गुजरात पर बने चक्रवात से बंगाल की खाड़ी तक एक द्रोणिका लाइन (ट्रफ) बनी हुई है।

मौसम विज्ञानियों के मुताबिक इन चार सिस्टम के कारण प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में बरसात हो रही है। गुरुवार को पूरे प्रदेश में अच्छी बारिश होने की संभावना है। शुक्रवार को पश्चिमी मप्र में कहीं-कहीं भारी बरसात हो सकती है।

मौसम विज्ञान केंद्र के वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि बुधवार को सुबह 8.30 बजे से शाम 5.30 बजे तक छिंदवाड़ा में 46, मंडला में 24, ग्वालियर में 21.5, दमोह में 19, उमरिया में 13, खजुराहो में 10.8, इंदौर में 8.8, नौगांव, रतलाम और शाजापुर में 5, सागर में 4, जबलपुर में 3.4, उज्जैन में 3, सतना में 1 मिमी., भोपाल में 0.2 मिमी. बरसात हुई।

जारी रहेगा बारिश का सिलसिला

अजय शुक्ला के मुताबिक ओडिशा तट पर मौजूद सिस्टम के गुरुवार को छत्तीसगढ़ के आस-पास आने की संभावना है। इसके अलावा दक्षिण गुजरात पर बने सिस्टम की वजह से अरब सागर से काफी नमी मिल रही है। इस वजह से गुरुवार-शुक्रवार को राजधानी सहित प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में अच्छी बारिश की संभावना है।

इसके अलावा 9 अगस्त को बंगाल की खाड़ी में एक और कम दबाव का क्षेत्र बनने के संकेत मिले हैं। उसके आगे बढ़ने पर प्रदेश में बारिश का सिलसिला लगातार बना रहने के पूरे आसार हैं। गौरतलब है कि इस वर्ष जुलाई माह में मानसून के रूठ जाने से अपेक्षाकृत कम बरसात हुई। इससे किसान चिंतित हो गए थे,लेकिन अगस्त में मानसून के सक्रिय होने से फसलों को जीवनदान मिल गया है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020