राजधानी में 2.8 डिग्री लुढ़का दिन का तापमान

Madhya Pradesh Weather Update: भोपाल (नईदुनिया प्रतिनिधि)। हिमाचल प्रदेश पर बना पश्चिमी विक्षोभ आगे बढ़ गया है। उधर, महाराष्ट्र में एक प्रति चक्रवात बना हुआ है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक प्रति चक्रवात के कारण अरब सागर से आ रही नमी के कारण जहां बादल छाने लगे हैं, वहां वातावरण में आर्द्रता बढ़ने के कारण धुंध भी छा रही है। इससे दिन के तापमान में गिरावट हो रही है। हालांकि, मंगलवार दोपहर से हवा का रुख उत्तरी होने से बुधवार से न्यूनतम तापमान में कुछ गिरावट हो सकती है।

प्रदेश में सबसे कम 7.4 डिग्री सेल्सियस तापमान नौगांव में दर्ज किया गया। अधिकतर जिलों में बादल बने रहने से सभी जिलों में अधिकतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई। भोपाल में दिन के तापमान में सोमवार के मुकाबले 2.8 डिग्री गिरावट हुई।

मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान मध्य प्रदेश के सभी जिलों का मौसम शुष्क रहा। न्यूनतम तापमान में सभी संभागों के जिलों में विशेष परिवर्तन नहीं हुआ। न्यूनतम तापमान नर्मदापुरम, भोपाल एवं उज्जैन संभाग के जिलों में सामान्य से काफी अधिक, इंदौर संभाग में सामान्य से अधिक एवं शेष संभागों के जिलों में सामान्य रहे।

मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि महाराष्ट्र में करीब डेढ़ किलोमीटर की ऊंचाई पर एक प्रति चक्रवात बना हुआ है। इस वजह से अरब सागर से मिली रही नमी के कारण वातावरण में आर्द्रता बढ़ने लगी है। इस वजह से धुंध छाने लगी है। इसके चलते दृश्यता कम हो रही है। मंगलवार को राजधानी में दोपहर के समय दृश्यता तीन किलोमीटर रह गई थी।

शुक्ला के मुताबिक हवा का रुख उत्तरी हो जाने से बुधवार से रात के तापमान में गिरावट का सिलसिला शुरू हो सकता है। उधर एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ वर्तमान में अफगानिस्तान के आसपास मौजूद है। यह मौसम प्रणाली गुरुवार से उत्तर भारत के मौसम को प्रभावित करने लगेगी। हालांकि पश्चिमी विक्षोभ की आवृति कम होने से उत्तर भारत के पहाड़ों पर बर्फबारी होने की संभावना कम है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close