भोपाल। नवदुनिया प्रतिनिधि। Madhya Pradesh Weather Update राजस्थान पर बने चक्रवात के कारण मध्यप्रदेश के मौसम का मिजाज बदल गया है। बादल छा गए हैं, मंगलवार को भोपाल और नौगांव में बरसात भी हुई। धूप नहीं निकलने के कारण दिन के तापमान में भी काफी गिरावट दर्ज की गई। हालांकि बादलों के कारण रात के तापमान में बढ़ोतरी हुई है। इससे ठंड से कुछ राहत मिल गई है। मंगलवार को प्रदेश में सबसे कम न्यूनतम तापमान 7 डिग्रीसे. बैतूल में दर्ज किया गया। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक अभी दो दिन तक मौसम साफ होने के आसार नहीं हैं। इसके बाद आसमान साफ होने पर रात के तापमान में एक बार फिर गिरावट दर्ज होने लगेगी।

मौसम विज्ञान केंद्र के मौसम विज्ञानी पीके साहा ने बताया कि वर्तमान में उत्तर भारत में सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ के कारण वहां के पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी हो रही है। पश्चिमी विक्षोभ के कारण उत्तर-पश्चिम राजस्थान पर एक प्रेरक चक्रवात बन गया है। इससे प्रदेश में नमी आ रही है। नमी के कारण मप्र में बादल छा गए हैं और बरसात की संभावना बन गई है। इसी क्रम में मंगलवार को भोपाल में 6.3 मिमी. और नौगांव में 8 मिमी. बरसात हुई।

साहा के मुताबिक एक ऊपरी हवा का चक्रवात मराठवाड़ा पर भी बना हुआ है। हालांकि उसका अधिक प्रभाव मप्र के मौसम पर नहीं पड़ रहा है। राजस्थान पर बने सिस्टम के कारण भोपाल, ग्वालियर, सागर, चंबल संभाग के जिलों, धार, उज्जैन, इंदौर, रतलाम, देवास, खंडवा, खरगौन एवं शाजापुर जिले में गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ने के आसार हैं।

पड़ी तेज बौछारें, 6 डिग्री लुढ़का दिन का तापमान

राजधानी में सुबह घना कोहरा रहने से सुबह 8 बजे दृश्यता 800 मीटर रह गई थी। कुछ देर बाद अचानक शहर के कुछ स्थानों पर 15-20 मिनट तक तेज हवा के साथ बौछारें पड़ीं। दिन भर धूप नहीं निकलने से अधिकतम तापमान 22.4 डिग्री पर थम कर रह गया, जो कि सामान्य से 2 डिग्री कम रहा। साथ ही सोमवार के अधिकतम तापमान (28.4) के मुकाबले 6 डिग्री कम रहा।

Posted By: Hemant Upadhyay

fantasy cricket
fantasy cricket