बीयू में आज कार्यपरिषद (ईसी) की आपातकालीन बैठक, डिप्टी रजिस्ट्रार को कारण बताओ नोटिस

भोपाल (नप्र)। बरकतउल्ला यूनिवर्सिटी (बीयू) ने लापरवाही से उच्च शिक्षा मंत्री उमाशंकर गुप्ता को कार्यपरिषद (ईसी) का सदस्य बता दिया है। इससे मंत्री गुप्ता नाराज हो गए और उन्होंने कार्यपरिषद का एजेंडा भी वापस कर दिया है। इधर बीयू प्रशासन ने इसे गंभीर चूक मानते हुए डिप्टी रजिस्ट्रार (अकादमिक) यशवंत पटेल को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया है।

दरअसल, बीयू में मंगलवार को कार्यपरिषद (ईसी) की आपातकालीन बैठक होनी है। इसके लिए सभी सदस्यों को एजेंडा शनिवार को भेजा गया था। साथ ही सूचना के लिए उच्च शिक्षा मंत्री गुप्ता को भी एजेंडा भेजा गया था। जिसमें उन्हें ईसी सदस्य लिखा गया। इसे देखते ही मंत्री गुप्ता भड़क गए। मामला जब रजिस्ट्रार एलएस सोलंकी की जानकारी में आया, तो उन्होंने मंत्री गुप्ता के विशेष सहायक से इस संबंध में चर्चा कर माफी मांगी। सोलंकी का कहना है कि डिप्टी रजिस्ट्रार पटेल को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा गया है। फिलहाल उनका जवाब आया नहीं है। मंगलवार को कार्यपरिषद की बैठक होने के बाद उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

नियुक्तियों पर लगेगी मुहर

आपातकालीन कार्यपरिषद में पिछले चार दिनों के दौरान हुए इंटरव्यू में चयनित उम्मीदवारों के नामों को रखा जाएगा। ईसी सदस्यों की मुहर लगने के बाद उम्मीदवारों को नियुक्ति पत्र भेजे जाएंगे। इसके अलावा बीयू में बनने वाले मेडिकल कॉलेज के डीपीआर बनवाने के लिए कंसल्टेंट नियुक्त करने का मामला भी रखा जाएगा।

अकादमिक शाखा में पदस्थ कर्मचारी से भिड़ा शिक्षक

अकादमिक शाखा में पदस्थ कर्मचारी श्रीकांत शुक्ला से एक कॉलेज का शिक्षक भिड़ गया। इससे शाखा में करीब एक घंटे तक हंगामा चलता। जिससे शाखा का कामकाज भी प्रभावित हुआ बाद में शाखा के अन्य कर्मचारियों ने मामला शांत कराया। शिक्षक ने कर्मचारी पर रुपए लेकर करने का भी आरोप लगाया। साथ ही उसकी शिकायत कुलपति से भी करने की बात कही।

सदस्य को एजेंडा भेजना भूला बीयू

बीयू प्रशासन राज्यपाल की ओर से नामांकित ईसी सदस्य हेमलता ढांढ को एजेंडा भेजना ही भूल गया। सोमवार को अचानक ध्यान आने पर उन्हें मोबाइल पर बैठक की जानकारी दी गई है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local