भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। रेडक्रास अस्पताल की तरफ से रविवार शाम 4 बजे बोर्ड ऑफिस चौराहे पर मास्क और साबुन बांटे गए। इस दौरान लोगों को समझाइश दी गई कि जब तक कोरोना की कोई वैक्सीन नहीं है तब तक मास्क ही वैक्सीन है। इसे परेशानी नहीं बल्कि जिंदगी समझें। रेडक्रास सोसायटी राज्य शाखा के चेयरमैन आशुतोष पुरोहित ने कहा कि राज्यपाल आनंदी बेन पटेल के जन्मदिन 21 नवंबर से पूरे शहर में रोको-टोको अभियान चलाया गया है। यह सात दिन चलेगा। इस दौरान शहर के प्रमुख चौराहों पर रेडक्रास की टीम लोगों को मास्क और साबुन का वितरण करेगी।

रेडक्रास की महासचिव डॉ. प्रार्थना जोशी ने कहा कि 7 नवंबर को रंभा टॉकीज चौराहे पर रेडक्रास की टीम मौजूद रहेगी। उन्होंने बताया कि दो दिन में मास्क वितरण में सामने आया है कि लगभग आधे लोग अभी भी बिना मास्क शहर में घूम रहे हैं। यह हाल तब है जब भोपाल में हर दिन 300 से ज्यादा मरीज मिल रहे हैं। भोपाल सहित पूरे प्रदेश में कोरोनो संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे है।

50 हजार लोगों को बांटे जाएंगे मास्क

पुरोहित ने बताया कि शनिवार से शुरू हुए इस अभियान में सात दिन के भीतर शहर में 50 हजार लोगों को मास्क और साबुन बांटे जाएंगे। इस दौरान लोगों को कोरोना से बचाव के लिए सरकार द्वारा तय गाइडलाइन के बारे में भ्ाी बताया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अच्छी गुणवत्ता वाले खादी के मास्क लोगों को बांटे जा रहे हैं, इन्हें धोकर बार-बार उपयोग किया जा सकता है। कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने के बाद दूसरी संस्थाएं भी मास्क बांटने व लोगों को समझाने के लिए आगे आ रही हैं।

Posted By: Lalit Katariya

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस