Medical Course Examinations : इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मेडिकल कोर्स की परीक्षाओं का मामला कोर्ट पहुंच गया है। इसे लेकर याचिका दायर हुई है। इसमें कहा है कि एकतरफ तो सरकार कह रही है कि प्रदेश में किसी भी यूनिवर्सिटी में फिलहाल कोई परीक्षा नहीं होगी।

वहीं दूसरी तरफ मेडिकल यूनिवर्सिटी परीक्षाएं आयोजित कर रही हैं। परीक्षाओं में शामिल होने वाले परीक्षार्थी पिछले दो महीने से ज्यादा समय से कोविड सेंटरों और अस्पतालों में सेवाएं दे रहे थे। ऐसी स्थिति में संक्रमण फैलने की आशंका से इन्कार नहीं किया जा सकता।

यह याचिका पीजी कोर्स कर रहे मेडिकल के छात्रों ने दायर की है। गौरतलब है कि एक जुलाई से एमडी और एमएस के छात्रों की परीक्षाएं शुरू हो रही हैं। वहीं दो जुलाई से पीजी डिप्लोमा कोर्स की परीक्षाएं शुरू होनी हैं।

याचिकाकर्ताओं का कहना है कि पीजी कोर्स के दौरान दो महीने से ज्यादा समय से उनकी ड्यूटी कोविड अस्पतालों और सेंटरों में लगाई गई थी। वे रात-दिन मरीजों की देखभाल और इलाज में लगे रहे। उन्हें पढ़ाई करने का समय ही नहीं मिला।

शासन ने भी उन्हें आश्वस्त किया था कि फिलहाल परीक्षा आयोजित नहीं की जाएगी। बावजूद इसके परीक्षा ली जा रही है। छात्रों ने इस संबंध में यूनिवर्सिटी के अधिकारियों से बात भी की थी लेकिन कोई समाधान नहीं निकला। छात्रों की मांग है कि परीक्षाएं स्थगित की जाएं। वे परीक्षा देने से इन्कार नहीं कर रहे लेकिन परिस्थितियां सामान्य होने के बाद आयोजित की जाए।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना