भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। वर्तमान में मध्य प्रदेश में आसमान साफ रहने और हवा का रुख उत्तरी बना रहने से कड़ाके की ठंड पड़ रही है। हालांकि आसमान साफ होने से दिन में अच्‍छी धूप खिल रही है। इससे ठिठुरन से थोड़ी राहत है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक शुक्रवार से मौसम का मिजाज बिगड़ने जा रहा है। दरअसल शुक्रवार को एक तीव्र आवृति वाले पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत में प्रवेश करने की संभावना है। इसके प्रभाव से दक्षिण-पश्चिम राजस्थान पर एक प्रेरित चक्रवात बनने के संकेत मिले हैं। इस वजह से वातावरण में नमी बढ़ने से शुक्रवार से प्रदेश के अधिकतर जिलों में बादल छा सकते हैं। साथ ही ग्वालियर, चंबल, सागर संभागों के जिलों में बारिश होने की संभावना है। शनिवार को कहीं-कहीं ओले भी गिर सकते हैं।

मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक वर्तमान में किसी प्रभावी वेदर सिस्टम के सक्रिय नहीं रहने से हवाओं का रुख उत्तरी बना हुआ है। उत्तर भारत से आ रही सर्द हवाओं के कारण मध्य प्रदेश में कड़ाके की ठंड पड़ रही है।

मौसम विज्ञान केंद्र के मौसम विज्ञानी पीके साहा ने बताया कि बुधवार को भिंड, ग्वालियर, खजुराहो में तीव्र शीतल दिन रहा। रीवा, सीधी, सिंगरौली, टीकमगढ़, छतरपुर, विदिशा, रायसेन, शिवपुरी में शीतल दिन रहा। बुधवार को राजधानी भोपाल का अधिकतम तापमान 23.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से दो डिग्री सेल्‍सियस कम रहा। साथ ही यह मंगलवार के अधिकतम तापमान 22.7 डिग्रीसे. की तुलना में 0.8 डिग्री सेल्‍सियस अधिक रहा। गुरुवार को भी मौसम का मिजाज इसी तरह बना रहने की संभावना है। उधर शुक्रवार को एक तीव्र आवृति वाले पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत में प्रवेश करने के आसार हैं। इसके प्रभाव से दक्षिण-पश्चिम राजस्थान पर एक प्रेरित चक्रवात के बनने से हवाओं का रुख बदलेगा। हवाओं के साथ नमी आने से शुकवार से प्रदेश के कुछ जिलों में बौछारें पड़ने की संभावना है। शनिवार को राजधानी भोपाल में भी बौछारें पड़ने की संभावना है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local