Monsoon in MP 2022: भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। दक्षिण भारत, बंगाल की खाड़ी के साथ ही मध्य भारत और पूर्वी भारत के ऊपर सेटेलाइट तस्वीरों में जिस तरह से उमड़ते-घुमड़ते बादल दिखाई दे रहे हैं, उन्हें देखकर यही लगता है कि जल्द ही भारत में मानसून दस्तक दे देगा, लेकिन एक सच ये भी है कि भारत के कई राज्य वर्तमान समय में लू की चपेट में हैं। इस तरह पूरे भारत में दो बिल्कुल विपरित तरह के मौसम दिखाई दे रहे हैं। एक तरफ कुछ राज्यों में भीषण गर्मी है, लू चल रही है, तो दूसरी तरफ कई राज्यों में प्री-मानसून के तहत भारी बारिश हो रही है।

वरिष्ठ मौसम विज्ञानी डा ममता यादव ने बताया कि बुधवार को दक्षिणी पश्चिमी मानसून ने पूरे अंडमान और निकोबार द्वीप समूह को कवर कर लिया और वह बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है, जो अच्छी खबर है। अनुमान है कि 29 मई से एक जून तक यह केरल पहुंच जाएगा और धीरे-धीरे सभी राज्यों में मानसून पहुंच जाएगा। खासतौर पर मध्य प्रदेश की बात करें, तो यहां 15 से 18 जून के आसपास पहुंचेगा।

एक बार फिर बढ़ेगा तापमान

वर्तमान समय में प्रदेश की स्थिति देखें, तो यही अनुमान लगाया जा सकता है कि 19-20 मई को यहां सभी हिस्सों में गर्म पश्चिमी हवाओं का असर रहेगा। धूप भी लगातार पड़ेगी, जिससे तापमान में कोई कमी नहीं आएगी। अनुमान तो यह है कि आने वाले दो-तीन दिनों में भोपाल, धार, इंदौर, ग्वालियर, नीमच, मंदसौर वाले क्षेत्रों में तापमान एक बार फिर बढ़कर 44 से 45 डिग्रीसे. तक पहुंच सकता है।

प्रदेश का मौसम गर्म एवं स्थिर बना हुआ है। बस रीवा संभाग के जिलों का तापमान थोड़ा बढ़ा है। इसे छोड़कर अन्य सभी संभागों के जिलों में मंगलवार और बुधवार के तापमान में कोई खास अंतर नहीं आया। सभी जगहों पर मौसम शुष्क ही रहा। प्रदेश का सबसे अधिक तापमान 45 डिग्री सेल्सियस नौगांव में दर्ज किया गया।

चार प्रमुख शहरों का तापमान

शहर - उच्चतम तापमान - न्यूनतम तापमान

भोपाल - 41.5 / 25.6 इंदौर - 40.6 / 24.6

जबलपुर - 42.7 / 28.4

ग्वालियर - 44.7 /28.1

(तापमान डिग्रीसे. में)

ये जिले रहे सबसे ज्यादा गर्म

नौगांव - 45

ग्वालियर - 44.7

खजुराहो - 44.6

सीधी - 44.2

सतना - 43.9

(तापमान डिग्री से. में)

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close