भोपाल (ब्यूरो)। करीब 10 दिन से रूठा मानसून एक बार फिर शुक्रवार से प्रदेश में सक्रिय हो गया है। जिसके चलते प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर रुक-रुककर बौछारें पड़ने का सिलसिला शुरू हो गया है। बरसात होने से सूख रही फसलों को जीवनदान मिल गया है। मौसम विज्ञानियों ने धीरे-धीरे बरसात की गतिविधियों में और तेजी आने की संभावना जताई है। हालांकि, अभी तक प्रदेश में समान्य से 10 फीसदी कम बरसात हुई है।

शनिवार को सुबह 8.30 से शाम 5.30 बजे तक रायसेन में 30, रीवा में 19, सतना में 16, भोपाल में 5.6, श्योपुरकला में 2 और बैतूल में 1 मिमी. बरसात हुई।

मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान ग्वालियर, चंबल संभाग को छोड़कर प्रदेश के लगभग सभी क्षेत्रों में बरसात हुई। इससे फसलों को काफी फायदा मिला। वरिष्ठ मौसम विज्ञानी आरआर त्रिपाठी ने बताया कि मानसून पूरे प्रदेश में सक्रिय है। इसके तहत एक ट्रफ बीकानेर, टोंक से शिवपुरी, नौगांव, पेंड्रा, गोपालपुर होकर बंगाल की खाड़ी तक जा रहा है। दक्षिणी छत्तीसगढ़ और उसके आसपास के क्षेत्र पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इसके अतिरिक्त अरब सागर के पूर्वी क्षेत्र से मध्य महाराष्ट्र तक भी एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इस वजह से बड़े पैमाने पर नमी मिलने का सिलसिला जारी है।

शनिवार को चार महानगरों का तापमान

शहर अधिकतम न्यूनतम

भोपाल 32.9 23.6

इंदौर 34.6 24.0

जबलपुर 33.5 24.4

ग्वालियर 37.4 26.0

(नोट - तापमान डिग्री सेल्सियस में)