MP Assembly Election 2023: भोपाल (राज्य ब्यूरो)। मध्य प्रदेश में अगले साल विधानसभा के चुनाव होने हैं। राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के बाद कांग्रेस के राष्ट्रीय पदाधिकारी चुनावी जमावट के लिए मैदान में उतरेंगे। प्रदेश प्रभारी जयप्रकाश अग्रवाल, राष्ट्रीय सचिव सह संगठन प्रभारी सीपी मित्तल, कुलदीप इंदौरा, संजय कपूर और सुधांशु त्रिवेदी प्रदेश के अलग-अलग जिलों में दौरे करेंगे।

इसमें जिला और ब्लाक इकाइयों के साथ बैठक करके चुनाव की तैयारियों को देखेंगे। इसके बाद संभागीय सम्मेलन का सिलसिला शुरू होगा। पार्टी पदाधिकारियों का कहना है कि जल्द ही जिला और ब्लाक अध्यक्षों की नियुक्तियां भी होंगी। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ 15 दिसंबर के बाद प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक बुलाकर आगामी कार्ययोेजना पर चर्चा करेंगे।

प्रदेश कांग्रेस ने चुनाव की तैयारियां राहुल गांधी की यात्रा के पहले ही प्रारंभ कर दी है। प्रदेश प्रभारी महासचिव जय प्रकाश अग्रवाल कुछ जिलों का दौरा कर चुके हैं। अब सभी राष्ट्रीय पदाधिकारी दो माह में सभी जिलों में बैठक करके एक-एक विधानसभा क्षेत्र में तैयारियों की स्थिति देखेंगे। इसमें कार्यकर्ताओं से क्षेत्रीय समीकरणों के अलावा चुनाव लड़ने वाले दावेदारों को लेकर भी चर्चा की जाएगी।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ अपने स्तर पर सर्वे कराएंगे तो संगठन भी जानकारी एकत्र करके विधानसभा क्षेत्रवार प्रतिवेदन तैयार करेगा। इसमें वर्तमान विधायकों की क्षेत्र में सक्रियता, पार्टी के कार्यक्रमों में सहभागिता, पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं से समन्वय, मतदान केंद्र स्तर पर तैयारी आदि का ब्योरा रहेगा।

प्रदेश संगठन के प्रभारी चंद्रप्रभाष शेखर का कहना है कि राहुल गांधी की यात्रा से कार्यकर्ताओं में उत्साह का संचार हुआ है। पूरे प्रदेश से कार्यकर्ता यात्रा में शामिल हुए हैं। सबने मिलकर इसे सफल बनाया है। अब इस उत्साह को चुनाव तक बरकरार रखने के लिए कार्यक्रम बनाए जाएंगे। पार्टी के राष्ट्रीय पदाधिकारियों के अलावा जिला प्रभारी व सह प्रभारियों के दौरा कार्यक्रम भी तय किए जा रहे हैं। जल्द ही संभाग स्तर पर बूथ, मंडलम और सेक्टर पदाधिकारियों के सम्मेलन की शुरुआत भी होगी।

जिला और ब्लाक इकाइयों में होगा परिवर्तन

सूत्रों का कहना है कि राहुल गांधी की यात्रा के बाद संगठन स्तर पर परिवर्तन भी होगा। विधायक झूमा सोलंकी, फूंदेलाल मार्को, राकेश मावई जिला अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे चुके हैं। इनके स्थान पर नई नियुक्तियां होनी हैं। इसी तरह सौ से ज्यादा ब्लाक अध्यक्षों को बदला जाना है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव और फिर राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के कारण यह प्रक्रिया रुक गई थी। अब एक माह के भीतर संगठन स्तर पर जो परिवर्तन किया जाना है, उसे अंतिम रूप दे दिया जाएगा। अधिकतर विधायकों को संगठन के दायित्व से मुक्त किया जा चुका हैै। पूर्व मंत्री तरुण भनोत और कमलेश्वर पटेल को जिला प्रभारी बनाया है। इन्हें भी अब केवल चुनाव कार्यों तक सीमित रखा जाएगा।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close