MP Assembly Election 2023: वैभव श्रीधर, भोपाल। मध्य प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में जीत पक्की करने के लिए कांग्रेस कर्मचारी, किसान और युवाओं को साधेगी। पुरानी पेंशन बहाल करके साढ़े चार लाख कर्मचारियों को सीधे लाभान्वित किया जाएगा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने सरकार में आते ही इसे लागू करने की घोषणा भी कर दी है।

कहा जा रहा है कि किसानों के लिए ऋण माफी के साथ खाद्य प्रसंस्करण उद्योगों को जाल बिछाया जाएगा। युवाओं को साधने के लिए कांग्रेस सरकारी और गैर सरकारी क्षेत्रों में संयुक्त प्रयास करेगी। प्रदेश में लगने वाले नए उद्योगों में स्थानीय युवाओं को प्राथमिकता मिलेगी। मिशन 2023 के लिए तैयार किए जा रहे वचन पत्र में इन सभी मुद्दों का शामिल किया जाएगा, साथ ही कार्ययोजना भी बताई जाएगी। इसकी तैयारियां पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष राजेंद्र कुमार सिंह की अध्यक्षता में गठित वचन पत्र समिति ने प्रारंभ कर दी है।

कर्मचारियों को मिलेगी पुरानी पेंशन

प्रदेश के विभिन्न् संगठन 2005 के बाद भर्ती हुए कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन बहाल करने की मांग कर रहे हैं। ये सभी अभी अंशदायी पेंशन योजना में शामिल हैं। राजस्थान और छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार पुरानी पेंशन को बहाल कर चुकी हैं। प्रदेश कांग्रेस ने भी तय किया है कि सत्ता में आने पर पुरानी पेंशन व्यवस्था लागू की जाएगी। इसके साथ ही स्थायी कर्मी और संविदाकर्मियों का नियमितीकरण किया जाएगा। कमल नाथ सरकार में इसकी शुरुआत की गई थी।

ऋण मुक्ति के साथ खाद्य प्रसंस्करण पर जोर

कांग्रेस का प्रदेश में सत्ता से वनवास समाप्त करने में सबसे बड़ी भूमिका किसानों की ऋण माफी योजना ने निभाई थी। मुख्यमंत्री बनने के बाद कमल नाथ ने ऋण माफी योजना की फाइल पर ही सबसे पहले हस्ताक्षर किए थे। पार्टी का दावा है कि 27 लाख किसानों का ऋण माफ किया जा चुका है। दूसरा चरण प्रारंभ हो गया था, लेकिन सत्ता परिवर्तन हो गया। इस अधूरे काम को सत्ता में आने पर पूरा करने का वचन कांग्रेस देगी। इसके साथ ही किसानों को उपज का उचित मूल्य दिलाने के लिए खाद्य प्रसंस्करण पर जोर दिया जाएगा।

नियमित भर्ती के साथ निवेश प्रोत्साहन

कांग्रेस का मानना है कि प्रदेश में सबसे बड़ी चुनौती नौजवानों के रोजगार की है। 30 लाख से ज्यादा युवा बेरोजगार हैं। पार्टी इन्हें रोजगार दिलाने के लिए सरकारी और गैर सरकारी क्षेत्रों संयुक्त रूप से प्रयास करेगी। नियमित भर्ती के साथ आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के उपाय भी किए जाएंगे। निवेशकों को प्रोत्साहित करने के साथ स्थानीय युवाओं को रोजगार देने का प्रविधान प्रभावी तरीके से लागू किया जाएगा।विधान सभा चुनाव के चार माह पहले घोषित होगा वचन पत्र : राजेंद्र सिंह

वचन पत्र समिति के अध्यक्ष राजेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि नवंबर 2022 तक समिति के सदस्य जिलावार रिपोर्ट बनाकर समिति को देंगे। इन्हें व्यापक विचार-विमर्श के बाद अंतिम रूप दिया जाएगा। वचन पत्र को विधान सभा चुनाव से चार माह पूर्व जनता के बीच रख देंगे, ताकि उन्हें पार्टी के विचारों से अवगत होने का पर्याप्त समय मिल जाए।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close