MP Board 12th Result 2021 Declared, भोपाल। माध्यमिक शिक्षा मंडल(माशिमं) का कक्षा 12वीं का परीक्षा परिणाम स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री इंदर सिंह परमार ने सिंगल क्लिक के माध्यम से जारी किया। इस बार सभी विद्यार्थियों को उत्तीर्ण किया गया है। परीक्षा परिणाम शत-प्रतिशत रहा है, जिसमें 52.28 फीसद परीक्षार्थी प्रथम श्रेणी में, 40.28 फीसद परीक्षार्थी द्वितीय श्रेणी और 7.43 फीसद परीक्षार्थी तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण हुए हैं। मंत्री ने परीक्षा परिणाम में सफलता पाने वाले सभी विद्यार्थियों एवं उनके अभिभावकों को हार्दिक बधाई दी। उन्होंने सभी विद्यार्थियों को उज्ज्वल भविष्य एवं सफल जीवन के लिए शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि छात्रों के भविष्य और सुरक्षा को ध्यान में रखकर परीक्षा परिणाम तैयार किया है। बेस्ट ऑफ फाइव मूल्यांकन पद्धति के आधार पर परीक्षा परिणाम तैयार किया गया है। मंत्री ने कहा कि जो परीक्षार्थी अपने परीक्षा परिणाम से असंतुष्ट है, वे सितंबर में आयोजित होने वाली परीक्षा में संपूर्ण विषयों या किसी विषय विशेष की परीक्षा में सम्मिलित हो सकते हैं।

ऐसे परीक्षार्थी एक अगस्त से 10 अगस्त तक परीक्षा में शामिल होने के लिए एमपी ऑनलाइन पोर्टल पर पंजीयन करा सकेंगे। ऐसे परीक्षार्थियों का परीक्षा के आधार पर तैयार परीक्षा परिणाम ही अंतिम रूप से मान्य किया जाएगा। इस वर्ष 12वीं में 6 लाख 56 हज़ार 146 नियमित परीक्षार्थियों के परीक्षा परिणाम घोषित किए हैं। इनमें 3 लाख 43 हज़ार 64 (52.28%) परीक्षार्थी प्रथम श्रेणी में, 2 लाख 64 हज़ार 295 (40.28%) परीक्षार्थी द्वितीय श्रेणी में और 48 हज़ार 787 (7.43%) परीक्षार्थी तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण हुए है। इस प्रकार इस वर्ष का परीक्षाफल शत-प्रतिशत रहा है। वहीं स्वाध्यायी परीक्षार्थियों का भी परीक्षा परिणाम हाईस्कूल परीक्षा के आधार पर तैयार किया गया है। कुल 7 हज़ार 196 स्वाध्यायी परीक्षार्थियों में 19 हज़ार 925 (27.67%) परीक्षार्थी प्रथम श्रेणी में, 33 हज़ार 944 (47.14%) परीक्षार्थी द्वितीय श्रेणी में और 18 हज़ार 126 (25.17%) परीक्षार्थी तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण हुए है।

अन्य राज्य या बोर्ड के कुल 6 हज़ार 348 परीक्षार्थियों का परीक्षाफल के लिए उनकी 10वीं की अंकसूची का सत्यापन किया जा रहा है। अंकसूची सत्यापन के बाद इन परीक्षार्थियों का परीक्षाफल भी घोषित किया जाएगा। इस अवसर पर प्रमुख सचिव और अध्यक्ष माध्यमिक शिक्षा मंडल रश्मि अरुण शमी, उपाध्यक्ष डॉ रमा मिश्रा, सचिव उमेश कुमार, निशा महाराणा, संजय उपाध्याय सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

विद्यार्थी दर्ज करा सकते हैं शिकायत

परीक्षा परिणाम के संबंध में छात्रों की शिकायत निवारण के लिए विशेष व्यवस्था की गयी है। यदि किसी छात्र को अंको के संबंध में कोई शिकायत है तो वह एमपी ऑनलाइन पोर्टल पर बनाए गए विशेष साफ्टवेयर के माध्यम से अपना अनुक्रमांक एवं आवेदन क्रमांक अंकित कर हाईस्कूल के विषयवार अंक एवं इसके आधार पर मैप किए गए हायर सेकेंडरी परीक्षा के विषयों के अंक के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकता है। परीक्षार्थियों को प्रदत्त की जा रही अंकसूचियों में यदि किसी प्रकार की लिपिकीय त्रुटि है तो परीक्षा परिणाम घोषित होने की तिथि से तीन माह की अवधि तक उसे ठीक कराने के लिए नि:शुल्क व्यवस्था है। तीन माह तक किसी प्रकार का सुधार न कराने वाले छात्र-छात्राओं को बाद में ऐसे सुधार कराने के लिए सशुल्क आवेदन करना होगा।

10वीं के आधार पर किया गया मैपिंग

दसवीं में विज्ञान विषय के आधार पर बारहवीं में सर्वाधिक विषयों में अंक दिए गए हैं। दसवीं में विज्ञान के नंबरों के आधार पर बारहवीं में फिजिक्स, केमेस्ट्री, बायोलॉजी, इंफारमेशन प्रैक्टिसेस, एग्रीकल्चर, होम साइंस, बायो टेक्नालाजी, फिजिकल एजुकेशन, होम मैनेजमेंट, एलीमेंट आफ साइंस समेत अन्य विषय शामिल है। गणित के विषय के आधार पर बारहवीं में गणित व बुक कीपिंग व एकाउंटेंसी के नंबर दिए गए हैं। साथ ही बेस्ट आफ फाइव पद्धति के अनुसार दसवीं के सबसे अधिक अंकों वाले विषयों के अतिरिक्त छठवां विषय बारहवीं के जिस विषय से मैप किया गया है। उस विषय में बारहवीं के तृतीय भाषा विषय के अंक प्रदान किए गए हैं। उदाहरण स्वरूप किसी विद्यार्थी को दसवीं में सामाजिक विज्ञान विषय के अंक बेस्ट ऑफ फाइव पद्धति के अंतर्गत बाहर होने के कारण उसके परिणाम में नहीं जोड़े गए हैं तो ऐसे विद्यार्थी को बारहवीं के परीक्षा परिणाम में सामाजिक विज्ञान विषय के अंको के स्थान पर बारहवीं की तृतीय भाषा के अंक प्रदान किए गए हैं।

अंसतुष्ट विद्यार्थियों की एक सितंबर से होगी परीक्षा

अगर कोई विद्यार्थी अपने परीक्षा परीणाम से असंतुष्ट होता है तो परीक्षा उनके लिए एक से 25 सितंबर के बीच विशेष परीक्षा आयोजित की जाएगी, जिसमें वे शामिल हो सकेंगे। इसके लिए विद्यार्थियों को एक से दस अगस्त के बीच ऑनलाइन पंजीयन कराना अनिवार्य होगा। परीक्षा आयोजन का विस्तृत कार्यक्रम अलग से जारी किया जाएगा। मंडल द्वारा परीक्षा लेकर विद्यार्थियों का रिजल्ट घोषित किया जाएगा। बता दें, कि इस वर्ष दसवीं व बारहवीं में परीक्षा की प्रावीण्य सूची जारी नहीं की जाएगी। इस वर्ष दसवीं में साढ़े दस लाख और बारहवीं में साढ़े सात लाख विद्यार्थी शामिल हुए हैं।

इन वेबसाइट्स पर देखें रिजल्ट

www.mpresults.nic.in

https://mpbse.mponline.gov.in/MPBSE/MPBSE

www.mpbse.nic.in

www.jagranjosh.com

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local