MP Board Exam 2020 : भोपाल (नईदुनिया प्रतिनिधि)। अगर कोई विद्यार्थी कोरोना पॉजिटिव हो या उसके परिवार का कोई सदस्य क्वारंटाइन किया गया है तो वह बारहवीं की बोर्ड परीक्षा नहीं दे सकेगा। हालांकि कंटेनमेंट क्षेत्र के सभी विद्यार्थी परीक्षा दे सकेंगे। प्रदेश के 24 कंटेनमेंट क्षेत्र के परीक्षा केंद्रों को भी बदला गया है। इसमें सबसे ज्यादा इंदौर के परीक्षा केंद्र हैं। वहीं, भोपाल का सिर्फ एक परीक्षा केंद्र (जहांगीराबाद क्षेत्र) बदला गया है। प्रत्येक परीक्षा केंद्र पर एक आइसोलेशन या रिजर्व कक्ष भी बनाया जाएगा।

बता दें कि राजधानी में तीन हजार समेत प्रदेशभर में करीब बीस हजार लोगों को क्वारंटाइन किया गया है। बारहवीं बोर्ड परीक्षा के संबंध में माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) ने परीक्षा केंद्रों की व्यवस्था को लेकर निर्देश जारी कर दिए हैं। 12वीं की बोर्ड परीक्षा 9 जून से शुरू हो रही है।

प्रदेश भर के 3657 परीक्षा केंद्रों पर करीब 8 लाख परीक्षार्थी शामिल होंगे। मंडल ने निर्देश दिए हैं कि कंटेनमेंट क्षेत्र के विद्यार्थियों को संबंधित पुलिस थाना में प्रवेश पत्र दिखाकर परीक्षा केंद्र पर जाने की अनुमति होगी। ऐसे विद्यार्थी जो लॉकडाउन में अपने गृह जिले चले गए हैं, वे उसी जिले में परीक्षा दे सकेंगे।

प्रदेश के साढ़े 8 हजार विद्यार्थी दूसरे परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा देंगे, लेकिन इसके लिए जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) को सूचना देनी होगी। ऐसे विद्यार्थी जो दूसरे जिले के परीक्षा केंद्र पर परीक्षा देंगे और ऑनलाइन आवेदन नहीं कर पाए हैं तो डीईओ को आवेदन देकर परीक्षा दे सकेंगे। परीक्षा में शामिल होने के लिए विद्यार्थी प्रवेश पत्र गुरुवार से एमपी ऑनलाइन पोर्टल एवं एप के माध्यम से ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं।

जहांगीराबाद का परीक्षा केंद्र बदला गया

जिला शिक्षा अधिकारी नितिन सक्सेना ने बताया कि भोपाल जिले में जहांगीराबाद का एक परीक्षा केंद्र बदला गया है। शासकीय कन्या उमावि, जहांगीराबाद परीक्षा केंद्र को टीटी नगर स्थित न्यू सुभाष स्कूल में परिवर्तित किया गया है। इस परीक्षा केंद्र पर 289 विद्यार्थी शामिल होंगे।

एक घंटा पहले पहुंचना होगा परीक्षा केंद्र पर

परीक्षा केंद्रों पर विद्यार्थियों को एक घंटा पहले पहुंचना होगा। वहां पहले थर्मल स्क्रीनिंग होगी। इसके बाद हैंड सैनिटाइज कर परीक्षा कक्ष में प्रवेश करना होगा। कक्ष में सुरक्षित शारीरिक दूरी का पालन करना होगा। एक बेंच पर एक छात्र ही बैठकर परीक्षा देगा।

विद्यार्थी परीक्षा केंद्रों पर नहीं लगा पाएंगे भीड़

परीक्षा देने के बाद विद्यार्थी परीक्षा केंद्रों पर भीड़ इकट्ठा नहीं करेंगे, यानी विद्यार्थी एकत्रित होकर दोस्तों से पेपर कैसा गया, इसकी जानकारी नहीं ले सकेंगे।

परीक्षा केंद्रों पर होगी यह व्यवस्था

  • प्रत्येक परीक्षा केंद्र को सैनिटाइज किया जाएगा।
  • प्रत्येक परीक्षा केंद्रों पर सैनिटाइजर व साबुन की व्यवस्था।
  • परीक्षा कक्ष में विद्यार्थियों के बैठने की दूरी पर्याप्त होगी।
  • केंद्राध्यक्ष स्थानांतरित विद्यार्थियों के उपस्थिति पत्रक पर अनुपस्थित कॉलम में स्थानांतरित लिखेंगे।
  • परीक्षा केंद्र पर पानी व डिस्पोजल ग्लास की भी व्यवस्था रहेगी।
  • थर्मल स्क्रीनिंग मशीन भी होगी।

विद्यार्थी रखें ध्यान

  • प्रत्येक विद्यार्थी को मास्क पहनना होगा।
  • अपने गृह जिले से परीक्षा देने वाले विद्यार्थी ऑनलाइन प्रवेश पत्र निकाल सकते हैं।
  • पानी की बोतल और सैनिटाइजर भी साथ ले जा सकते हैं।
  • परीक्षा देने के बाद दोस्तों से बात न करें।
  • परीक्षा केंद्र पर कुछ भी अनावश्यक चीजों को न छुएं
  • हाथों को बार-बार सैनिटाइज करें।
  • प्रवेश पत्र जरूर ले जाएं।

इनका कहना है

साढ़े 8 हजार विद्यार्थियों के परीक्षा केंद्रों को परिवर्तन किया गया है। ऑनलाइन प्रवेश पत्र जारी किया जा रहा है। कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर परीक्षा केंद्र पर पूरी व्यवस्था की जाएगी।

अनिल सुचारी, सचिव, माशिमं

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना